कोलारस के पूर्व नपं उपाध्यक्ष विमल कुमार जैन का हृदयगति रूकने से इंदौर में निधन / SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शहर के प्रसिद्ध व्यवसायी और समाजसेव तथा नगर पंचायत कोलारस के पूर्व उपाध्यक्ष विमल कुमार जैन पत्ते वालों का इलाज के दौरान इंदौर में बीती रात लगभग 2 बजे हृदयगति रूक जाने से निधन हो गया। उनकी उम्र लगभग 75 वर्ष थी। उनके पार्थिव शरीर को इंदौर से शिवपुरी लाया जा रहा है।

अंतिम संस्कार 9 सितम्बर बुधवार को शाम 5 बजे उनके एबी रोड़ स्थित फार्महाउस पर किया जाएगा। अंतिम यात्रा उनके निजनिवास स्थान महल कॉलोनी शिवपुरी से कोरोना गाईडलाईंस का पालन करते हुए निकाली जाएगी। मृतक विमल कुमार जैन की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

शहर के अनेक गणमान्य नागरिकों, राजनेताओं और समाजसेवियों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है। शोक व्यक्त करने वालों में प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, तरूण सत्ता के प्रधान संपादक डॉ. रामकुमार शिवहरे, वरिष्ठ समाजसेवी महेंद्र गोयल, ललित मोहन गोयल, तनुज गोयल, पूर्व विधायक माखनलाल राठौर, प्रहलाद भारती, ओमप्रकाश खटीक, रमेश खटीक, भाजपा जिला उपाध्यक्ष तेजमल सांखला, जिनेंद्र जैन, डॉ. शैलेंद्र गुप्ता, अशोक कोचेटा, अभिषेक शर्मा बट्टे, बैजनाथ सिंह यादव, हरवीर सिंह रघुवंशी, विजय शर्मा, राकेश गुप्ता आदि शामिल हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार विमल कुमार जैन शहर के प्रतिष्ठित पत्ते वाले परिवार के सदस्य थे। पूर्व विधायक देवेंद्र जैन और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जितेंद्र जैन गोटू के वह चाचा तथा पूर्व पार्षद रत्नेश जैन डिम्पल के पिता थे। पिछले कुछ दिनों से उनकी शुगर काफी बढ़ी हुई थी।

इस कारण उन्हें दो दिन पहले सिद्धिविनायक अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया। लेकिन उनकी गंभीर हालत देखकर डॉक्टरों ने उन्हें इंदौर रैफर कर दिया। इंदौर के अरविंदो हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती कराया गया तथा इलाज के दौरान उनकी हालत मेें सुधार भी आया। लेकिन देर रात्रि हृदयगति रूक जाने से उनकी मृत्यु हो गई।

कांग्रेसी विचारधारा के थे स्व. विमल कुमार जैन

पत्ते वाले परिवार के सदस्य स्व. विमल कुमार जैन कांगे्रसी विचारधारा के थे और वह कोलारस नगर पंचायत के उपाध्यक्ष रहने के साथ-साथ पांच बार नगर पंचायत पार्षद भी रहे हैं। शिवपुरी में वह तिवारी कांग्रेस के पदाधिकारी रहे। लेकिन उनके पुत्र रत्नेश जैन डिम्पल के भाजपा से पार्षद पद का चुनाव लडऩे के बाद स्व. जैन ने राजनीति छोड़ दी।