ग्राम रिजोदी में आदिवासियों को नहीं मिल रहा योजनाओं का लाभ / BADARWAS NEWS

बदरवास। जनपद पंचायत बदरवास के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत रिजोदी में आने वाले छोटी घुरवार में ग़रीब आदिवासी मजदूरों के साथ ठगी का मामला सामने आया है। जहाँ एक ओर पूरे गाँव में धनी लोगों को और सिफारिश के दम पर सरकारी योजनाओं का लाभ उठा रहे है, वहीं गाँव के भोले-भाले आदिवासी लोगों को शौचालय तथा आवास योजना जैसी सरकार की योजनाओं के लाभ से दबंग रोजगार सहायक सत्येंद्र यादव द्वारा इन गरीब लोगों को बंचित रखा गया।

ग्रामीणों का आरोप है कि जो योजना की राशि उनके खाते में आनी चाहिए थी वह धनराशि सत्येंद्र यादव उन्हे धोखाधडी से अपने खाते में डलवा लिए। वहीं कागजी प्रक्रिया पूरा करते हुए सत्येंद्र यादव के द्वारा इन लोगो को एक-एक अस्थायी शौचालय बनाकर दिए गए। जिनकी हालात शुरू से जर्जर बनी हुई है। इतना ही नहीं जब शौचालयों बनाए गए तो मजदूरी भी उन्ही हितग्राहियों से कराई गई जिसका भुगतान आज दिनंक तक नहीं हुआ। जब ग्रामीण मजदूरों ने मजदूरी का पैसा सत्येंद्र से मागा तो वह भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए कहने लगा कि वह पैसे नहीं देगा और आइंदा पैसे मांगने आए तो अच्छा नहीं होगा।

ग्रामीण का आरोप है कि वह वाहर शौच जाने को मजबूर तथा झोपड़ियों में जीवन यापन कर रहे हैं। मतलब साफ शब्दों में कहें तो गरीबों का सहारा यह सरकार के अधिकारी बिल्कुल नहीं हैं। न ही अधिकारी मौके पर जाकर निर्माण का निरीक्षण करते हैं जिसके चलते सरकार की ऐसी गरीब कल्याणकारी योजनाओं के बाद भी धडल्ले से दबंगो का दबदबा क़ायम है और गरीब मजदूरों की हालात जस की तस खबर बनी है।