विधायक की बेटी की हत्या कर फांसी के फंदे पर लटकाया है: दहेज हत्या का आरोप | Shivpuri News

शिवपुरी। आज मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार धरासाई हो गई है। इसी दौरान कांग्रेस के बागी विधायक सुरेश राठखेडा की पुत्री की अपने ही ससुराल में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है। बेटी के ससुराल बाले इसे आत्महत्या बता रहे है। जबकि पूर्व विधायक सुरेश राठखेडा के परिजन इसे हत्या बता रहे है।

इस मामले की सूचना पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बैंगलौर से स्पेशल विमान राजस्थान भेजा है। जहां सुरेश राठखेडा स्पेशल विमान से जयपुर पहुंचे। उसके बाद अब वह सडक के रास्ते बेटी के ससुराज बांसखेडा पहुंच रहे है।

यहां बता दे कि मृतक ज्योति के पिता सुरेश राठखेड़ा इन दिनों कांग्रेस के उन 22 बागी विधायकों में शामिल हैं, जो कर्नाटक के बैंगलुरू में हैं। उन्होंने सिंधिया के समर्थन में 9 मार्च को अपना इस्तीफा दे दिया था और कल रात में ही विधानसभा स्पीकर एनपी प्रजापति ने उनका इस्तीफा स्वीकार किया था।

ज्योति की शादी तीन साल पहले ही हुई थी और उनके पति जयसिंह मेहता बारां जिले के कैलवाड़ा के सरकारी अस्तपाल में पदस्थ हैं। मृतिका ज्योति की लाश को देखने के बाद उसके चाचा ताउ सहित पूरे परिजन हत्या का आरोप लगा रहे है। बताया गया है कि मृतिका की एक 2 साल की पुत्री है। राजस्थान पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार पूर्व विधायक सुरेश राठखेड़ा की पुत्री ज्योति धाकड़ का विवाह 3 वर्ष पूर्व बारां के ग्राम बांसखेड़ा गांव में रहने वाले डॉ. जयसिंह मेहता से हुआ था। इस दौरान ज्योति ने एक बेटी को भी जन्म दिया। जिसकी आयु अभी महज 2 वर्ष ही है।
बीती रात्रि किसी अज्ञात कारण के चलते ज्योति ने घर में रस्सी का फंदा डालकर आत्महत्या कर ली है।

जिसकी जानकारी आज सुबह परिजनों को लगी तो उन्होंने पुलिस को सूचित कर दिया। वहीं शिवपुरी में रहने वाले उसके मायके पक्ष के लोगों को भी घटना की जानकारी लगी तो वह कैलवाड़ा के लिए रवाना हो गए। जहां ज्योति का पीएम चल रहा था।

सुरेश राठखेडा के करीबी माने जाने बाले राजेन्द्र पिपलौदा ने शिवपुरी समाचार डॉट कॉम को बताया है कि उसकी बेटी की हत्या की गई है। बेटी की न तो जीभ बाहर निकल रही है और न ही वह ऐसी कोई स्थिति में मिली कि उसने आत्महत्या की हो। यह तो उसके ससुराल बाले मामले को आत्महत्या में बदलने के लिए इसे आत्महत्या बता रहे है। परंतु अब परिजन अपनी बेटी को लेकर अपने गृह गांव राठखेडा जा रहे है। जहां उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

दामाद डॉ पर पहले भी लग चुके है गंभीर आरोप

सूत्रों की माने तो शादी के बाद से दामाद डॉ जयसिंह का एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिसके चलते डॉ जयसिंह उक्त युवती को लेकर भी भाग गया था। बताया गया है कि उसके बाद उक्त युवती ने डॉ पर रेप का आरोप लगाने के प्रयास किया था। इसे लेकर ज्योति परेशान रहने लगी थी।

आए दिन दामाद शराब के नशे में घर आता था और वह ज्योति के साथ मारपीट करता था। वही विधायक सुरेश राठखेडा के रिश्तेदारो का कहना हैं कि इसे दहेज कहना भी उचित होगा कि पिछले कुछ समय से दमाद बडी गाडी की मांग कर रहा था।

समय की बलिहारी : एक ही रात में बेटी के साथ-साथ गई विधायकी

एक ही रात में बागी विधायक सुरेश राठखेड़ा की दुनिया बदल गई। यह वक्त की बलिहारी है कि जिस रात उनका विधानसभा अध्यक्ष ने विधायकी से इस्तीफा स्वीकार किया। उसी रात उनकी पुत्री ने आत्महत्या कर ली। 

हालांकि दोनों घटनाओं के बीच कोई संबंध नहीं है। सुरेश राठखेड़ा ने 2017 में अपनी पुत्री का विवाह बारां जिले में एक सम्पन्न परिवार में किया।  वह इस बात से खुश थे कि उनकी पुत्री अच्छे परिवार में गई है और उनकी यह खुशी विधायक बनने के बाद दोगुनी हो गई। लेकिन कल रात यह दोहरी खुशी दोहरे दुख में तब्दील हो गई।