कोरोना से जंग: 14 विेदेश से आए और दूसरो राज्यो से आए 221 लोग प्रशासन की निगरानी में

शिवपुरी। जिले में कोरोना से लडने के लिए प्रशासन पूरी एतियात बरत रहा हैं। इस वायरस से जिला और जिलावासियो से बचाने के लिए प्रशासन ने पूरी कमर कस ली हैं। शिवपुरी में इस किलर कोरोना को रोकने के लिए  लिए विदेश से 14 और दूसरे राज्यों से आए 221 लोगों को घरो में ही क्वारंटाइन करा दिया है।

प्रशासन ने घरों के बाहर क्वारंटाइन की सूचना भी चस्पा दी हैं। वहीं भीलवाड़ा से लौटे युवक को खांसी की शिकायत की वजह से जिला अस्पताल स्थित इन्फेक्शन डिसीजन कंट्रोल वार्ड शिवपुरी में भर्ती करा दिया है। युवक का सैंपल लेकर जांच के लिए डिफेंस लैब ग्वालियर भेज दिया है। हालांकि युवक तीन महीने से खांसी की शिकायत बता रहा है।

भीलवाड़ा से आए युवक को आइसोलेट किया
वहीं सोनू उर्फ सोहनपाल (26) पुत्र पप्पू उर्फ लज्जाराम केवट 20 मार्च को भीलवाड़ा से अपने गांव करही तहसील नरवर लौटकर आया। पता चला कि भीलवाड़ा में कोरोना वायरस संक्रमित मरीज मिले हैं, तो ग्रामीणों ने डायल 108 पर सूचना दे दी। कंट्रोल रूम पर भी सूचित किया।

इसके बाद सोहनपाल को एंबूलेंस से शिवपुरी जिला अस्पताल लाया गया। यहां आइसोलेशन वार्ड में रखकर सैंपल लिया और जांच के लिए डिफेंस लैब ग्वालियर भेज दिया है। इधर शनिवार को दीपक शर्मा को भी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर सैंपल लिया था। दो दिन में रिपोर्ट आने का दावा अधिकारियों ने किया था।

लेकिन तीसरे दिन सोमवार की देर शाम तक रिपोर्ट नहीं मिली है। वहीं दीपक आइसोलेशन वार्ड में नहीं रुका और घर जाने की जिद करता रहा। बाद में उसे घर में ही अलग कमरे में रहने की सलाह देकर जाने दिया। अब जांच रिपोर्ट का इंतजार है।

भोपाल, राजस्थान और उड़ीसा से तीन लोग आए
कोरोना को लेकर स्थापित जिला स्तरीय कंट्रोल रूम पर सोमवार को तीन लोगों के शिवपुरी लौटने की सूचना मिली। रेलवे कॉलोनी में करनसिंह पुत्र भगवान सिंह मुख्य अभियंता रेलवे राजस्थान से लौटे हैं। दीपेंद्र पुत्र पूरन सिंह निवासी पीएचक्यू लाइन भोपाल से आए हैं।

राजाबाबू पुत्र महेश गुप्ता निवासी कृष्णपुरम कॉलोनी शिवपुरी के भुवनेश्वर उड़ीसा से लौटने की सूचना किसी पड़ौसी ने दी। स्वास्थ्य विभाग की टीम राजाबाबू के घर पहुंची। पत्नी, बच्चे सहित खुद स्वस्थ्य हैं, सिर्फ हल्की सर्दी की शिकायत है।