जज साहब मुझे तलाक दिला दो, क्योंकि मेरी पत्नी किन्नर है: याचिका | Shivpuri news

शिवपुरी। शिवपुरी जनपद के एक गांव में एक युवक की शादी पडौस के गांव में रहने वाले एक परिवार की बेटी के साथ संपन्न हुई। लेकिन शादी के 8 माह बाद ही अब यह शादी तलाक के दहलीज पर पहुंच चुकी हैं और युवक ने न्यायालय की शरण लेते हुए अपनी पत्नि को महिला न होते हुए किन्नर होने का दावा किया हैं। न्यायालय से कहा कि उसकी पत्नि न उसे शारिरिक सुख और संतान नही दे सकती,इस लिए उसका तलाक कराया जाए।

जानकारी के अनुसार 22 वर्षीय युवक की शादी 22 जून को पडौस के गांव की एक युवती के साथ हुई। इस शादी को लेकर दोनो परिवारों काफी उत्साह था,लडके के परिवार वाले बहू को गाजे बाजे के साथ धूमधाम से ब्याह कर लाए। घर में हसी खुशी पूरी रस्मे निभाई गई,लेकिन दूल्हे ने इस बात का खुलासा कि उसके साथ धोखा हुआ कि उसकी पत्नि महिला नही है बल्कि किन्नर हैं।

कथित दुल्हन के परिजनो को बुलाया गया परंतु उसके परिजन यह मानने के तैयार नही कि उनकी बेटी महिला नही किन्नर हैं। कई महिनो तक मामला परिवारिक व सामाजिक स्तर पर गुपचुप तरीके से सुलझाने का प्रयास हुआ,परंतु कोई बात नही बनी।

आखिकार पति ने पत्नि से वैवाहिक संबंध विच्छेदित करने के लिए न्यायालय की शरण ली हैं। पीडित व्याक्ति ने न्यायालय में शिकायत दर्ज कराई हैं,इसलिए वह उसे शरीरिक सुख व संतान सुख नही दे सकती,उसे अनावेदिका से तलाक दिलवाया जाए।