RTO मैडम की यमराज एक्सप्रेस: 3 की जगह 20 सवारियां भरकर सडकों पर मौत बनकर दौड रही है आटों

कोलारस। इन दिनों जिले में आरटीओ मैडम की यमराज एक्सप्रेस पूरे चरम पर दौड रही है। आरटीओं मैडम की हीलाहबाली के चलते हालात यह है कि इन दिनों परिवहन विभाग पूरा दलालों के हबाले से संचालित है। मैडम को कार्यालय में बैठने की फुरर्सत नहीं है। कार्यालय में बैठना तो दूर आज तो हालात यह हुई कि मैडम ने कलेक्टर कार्यालय में आयोजित टीएल की बैठक में उपस्थिति होना भी उचित नहीं समझा।

जिसके चलते आज आरटीओ मैडम को कलेक्टर ने नोटिस जारी कर दिया है। इसके साथ ही पूरे जिले में इन दिनों वाहन चालक सरेआम यमराज के दूत बनकर सडकों पर दौड रहे है। परंतु मैडम कार्यवाही तो दूर वह चैकिंग पॉइंट लगाना भी उचित नहीं समझती। जिले में स्थिति यहां पर यह है, कि जिस वाहन में 5 लोगों के बैठने की क्षमता होती है उनमें 10 से 20 लोगों को जबरन ठूंसा जाता हैं।

कई बार ओवरलोड वाहन हादसे का शिकार भी हो जाते हैं, और इसके बाद भी जिम्मेदार परिवहन विभाग से लेकर पुलिस प्रशासन कार्यवाही नहीं करता हैं। ऐसे स्थिति में ओवरलोड वाहनों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा हैं। वहीं कोलारस से लेकर ग्रामीण अंचलों में करीब 2 सैकड़ा से अधिक वाहन सुबह से शाम तक इस रोड़ पर देखे जा सकते हैं।

साथ ही इन वाहनों में अधिक ऑटो वाहन ओवरलोड चलाए जा रहे हैं। जिसकी जानकारी स्थानीय थाने से लेकर जिला परिवहन विभाग को होने के बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा हैं। जबकि पूर्व में इन ऑटो चालकों के कारण कई बार हादसे भी घटित हो चुके हैं और अभी हाल ही में दो माह पूर्व लुकवासा के करीब एक ऑटो सवार तीन यात्रियों की मौत हो चुकी और उसमें सवार आधा दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

इसके बाद भी जिला प्रशासन इन हादसों से सबक भी नहीं सीख रहा हैं। बताया जा रहा है कि यह वाहन हाईवे स्थित थाने के सामने से निकलते हैं वहां पर पुलिस प्रशासन सब कुछ जानने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं करता है। ऐसे में इन वाहन चालकों के हौंसले लगातार बुलंद हो रहे हैं और यात्रियों की जान हमेशा जोखिम में बनी रहती हैं।

पूरनखेडी पर ऑटो से हो चुका है बड़ा हादसा
कोलारस के पूरनखेड़ी टोल टैक्स से आगे मोहराई रोड पर ऑटो मैजिक वाहन सवारी उतार रहा था तभी पीछे से ट्रक ने टक्कर मार दी। जिससे 6 लोगों की जान गई थी। इतना बड़ा हादसा होने के बाद एक-दो दिन जरूर ऑटो चालकों पर प्रतिबंध लगाया गया था। पुलिस प्रशासन सजग होकर कार्यवाही कर रहा था परंतु इसके बाद तेज ऑटो चालकों से लेकर मैजिक वाहन चालक क्षमता से अधिक सवारियां प्रतिदिन ले जा रहे हैं।

परंतु कोई कार्यवाही नहीं की जा रही हैं। इस हादसे में मरे लोगों के घरों पर पूर्व सांसद से लेकर वर्तमान सांसद भी पहुंचे तब ऐसा लगा की अब क्षमता से अधिक सवारियां ऑटो सहित मैजिक वाहन अब ऑवर लोड नहीं चलेंगे।  

परंतु दो-तीन दिन तक जरूर पुलिस ने मुस्तैदी के साथ कार्रवाई की परंतु इसके बाद फिर से क्षमता से अधिक सवाली ले जाते हुए खुलेआम देखे जा सकते हैं। कोलारस के जगतपुर चौराहे से लेकर देहरदा सड़क लुकवासा कोलारस से पाडोरा यहां तक की डेहरबारा  खरई तक क्षमता से अधिक बैठा कर दौड़ रहे हैं। हर समय ऑटो चालकों का इन स्थानों पर मेला सा लगा रहता है । अब जाने जिला प्रशासन और कितने बड़े हादसे का इंतजार कर रहा हैं।