बडौदी में 17 लोगों को नोटिस, एकजुट होकर पहुंचे कलेक्ट्रेट बोले, कलेक्टर मैडम हमें बेघर मत करों

शिवपुरी। आज जनसुनवाई मेें अतिक्रमण विरोधी मुहिम के दौरान नोटिस जारी होने के बाद 17 परिवारों के लगभग एक सैकडा लोग कलेक्ट्रेट कार्यालय में पहुंचे। अपने नवजात बच्चों को लेकर आई महिलाएं,युवकों ने कलेक्टर अनुग्रहा पी से गुहार लगाते हुए कहा कि वह उन्हें बैघर न करें। इस जमींन पर बीते 40 साल से काबिज है। वह भू माफिया नहीं है बल्कि उन्होंने तो अपना पेट काटकर उक्त जमींन पर निर्माण कर रह रहे है।

बडौदी से आए लगभग एक सैकडा लोगों का आरोप है वह बीते 40 साल से इस जमींन पर रह रहे है। जिसके पट्टे भी प्रशासन ने जारी कर दिए है। परंतु वह पट्टे अभी प्रशासन ने नहीं दिए है। करूण गुहार लगाते हुए ग्रामीणों ने कहा कि वह अत्यंत गरीब है और हमारे पास बडौदी के अलाबा कोई आवास नहीं है।

ग्रामीणों का कहना है कि इस कडकडाती ठंड में मकानों को तोडने के बाद उनके छोटे छोटे बच्चों  व बीमार बुजुर्गो को लेकर वह कहा जाए। उक्त लोगों ने गुहार लगाते हुए कहा कि उन पर हो रही कार्यवाही न्यायसंगत और मानवीय आधार पर बिल्कुल भी उचित नही  है। अगर यह शासकीय जमींन भी है तो हम गरीबों से इसका पूरा भुगतान भी किस्तों में ले ले। वह चुकाने तैयार है। परंतु उनके बने हुए मकानों को न तोडा जाए।

जिसपर से कलेक्टर अनुग्रहा पी ने इस मामले में पुन: जांच कर कार्यवाही करने की बात कही। इस मुहिम को लेकर क्षेत्रीय सांसद डॉ केपी यादव ने भी कलेक्टर साहिबा से इस अतिक्रमण अभियान में लोगों को राहत देने की बात कही है।