छेडछाड की पीडिता के घर आरोपी ने किया पथराव, एसिड अटैक की धमकी, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची डायल 100

शिवपुरी। छोटा लुहारपुरा में रहने वाले आरोपी रानू उर्फ मनीष शर्मा ने रात्रि में एक युवती के घर पर पथराव कर उसे एसिड अटैक की धमकी दी। खास बात यह रही कि आरोपी द्वारा घटना किए जाने के बाद पीडि़त के परिवारजनों ने डायल 100 को फोन लगाकर घटना की जानकारी दी। लेकिन डायल 100 मौके पर नहीं पहुंची और आरोपी उत्पात मचाता रहा।

आरोपी पर पूर्व में पीडि़त युवती ने छेडख़ानी सहित मारपीट का मामला दर्ज कराया था और एफआईआर होने के बाद से आरोपी उस पर लगातार राजीनामा के लिए दबाव बना रहा था। पीडि़त युवती पिछली दो जनसुनाईयों में आरोपी को गिरफ्तार करने की शिकायत कर चुकी है। लेकिन पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की। जिससे उसके हौंसले भी बुलंद हो गए हैं।

विदित हो कि बीते 9 दिसंबर को रात्रि करीब 8 बजे आरोपी रानू उर्फ मनीष पुत्र सतीश शर्मा उसे रास्ते में रोक लिया और उसके साथ अश£ील हरकत की। साथ ही उसकी मारपीट कर दी थी। इस मामले को लेकर पीडि़ता ने देहात थाने में शिकायत की, जिस पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादवि की धारा 354, 323, 294, 506 के तहत प्रकरण दर्ज किया।

मामला दर्ज होने के बाद से ही आरोपी ने पीडि़ता पर दबाव बनाना शुरू कर दिया। कई बार आरोपी ने उसके भाई के साथ भी मारपीट की। लेकिन बीते रोज आरोपी रानू शर्मा ने उसके घर पर पहुंचकर पथराव किया और उसे और उसके परिवार को गालियां दी। आरोपी ने पीडि़ता को यह भी धमकी दी कि अगर उसने मामले में राजीनामा नहीं किया तो वह उस पर एसिड से अटैक कर उसका जीवन बर्बाद कर देगा।

कल जनसुनवाई में पीडि़ता ने इसकी शिकायत की और आरोपी ने गिरफ्तार कर मांग की। इससे पूर्व पिछले मंगलवार को भी पीडि़ता जनसुनवाई में एसपी राजेश सिंह चंदेल के पास पहुंची थी। पीडि़ता का कहना है कि जब उसने एसपी राजेश सिंह चंदेल से आरोपी द्वारा परेशान किए जाने की बात कही थी, तो एसपी ने उसे सलाह दी थी कि उसके पिता पुलिस विभाग में थे, जिनका देहांत हो गया है और अनुकंपा नियुक्ति के लिए वह प्रयासरत है इसलिए उसके भविष्य को देखते हुए मामले में राजीनामा कर ले। उस समय यह मामला अखबारों की सुर्खियां भी बना था और पुलिस ने इस मामले को ठंडे वस्ते में डाल दिया। जिसका नतीजा यह हुआ कि आरोपी ने पीडि़ता के घर हमला बोल दिया।