पोहरी में गरजी हिटेची,तोड़े आधा सैकड़ा अतिक्रमण, पत्रकार को शांति भंग के आरोप में भेजा जेल | Pohri News

शिवपुरी। प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई एंटी माफिया मुहिम के दौरान रविवार को पोहरी कस्बे में प्रशासन ने अतिक्रमण मुहिम चलाई। इस दौरान हिटैची की सहायता से आधा सैकड़ा पक्के अतिक्रमण ढ़हाए गए, जो शासकीय भूमि पर लोगों ने कर रखे थे। 

प्रशासन ने जब एक पत्रकार मनोहर शर्मा द्वारा शासकीय जमीन पर अतिक्रमण कर बनाई गई 11 दुकाने और मकान को ध्वस्त किया तो वह पत्रकार प्रशासनिक अधिकारियों से उलझ गया। बाद में पुलिस उसे पकड़कर थाने ले गई और इसके बाद उसके पूरे अतिक्रमण को जमींदौज कर दिया। 

इसके बाद उक्त पत्रकार पर 151 की कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया। वहीं एक दूसरे पत्रकार अरविंद तोमर द्वारा शासकीय जमीन पर दुकानें बनाकर किए गए अतिक्रमण को भी ध्वस्त किया। साथ ही श्योपुर रोड़ और मैन चौराहे पर निर्माण की गई 32 दुकानें तोड़ी गई। 

वहीं एक अतिक्रामक को मकान 24 घंटे में खाली करने का निर्देश एसडीएम पल्लवी वैध द्वारा दिया गया। आज सोमवार को यह अतिक्रमण ढ़हाया जाएगा। 

जानकारी के अनुसार एसडीएम पल्लवी वैध सहित तहसीलदार ओपी राजपूत, एसडीओपी राकेश व्यास सहित पुलिसबल और प्रशासनिक टीम सुबह 9 बजे श्योपुर रोड़ पर पहुंचे। 

जहां किशोरी कुशवाह द्वारा करोड़ों रूपए की बेश्कीमती शासकीय जमीन पर दुकाने बनाकर अतिक्रमण किया था और उक्त दुकानों को उसने भाड़े पर दे रखा था। प्रशासन ने सबसे पहले इन दुकानों को जेसीबी की सहायता से तोड़ा। 

इस दौरान अतिक्रामक ने प्रशासन से मोहलत मांगी लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों ने उसकी एक नहीं सुनी और देखते ही देखते उक्त अतिक्रमण को ध्वस्त कर दिया। 

इसके बाद बस स्टेंड पर एक पत्रकार मनोहर शर्मा द्वारा शासकीय जमीन पर दुकानें और मकान बनाकर किए गए अतिक्रमण को तोडऩे के लिए टीम पहुंची तो वहां प्रशासनिक अधिकारियो को पत्रकार के विरोध का सामना करना पड़ा। 

मनोहर शर्मा का कहना था कि उसकी यह दुकाने ट्रस्ट द्वारा निर्मित की गई हैं, जिसके उसपर कागजात भी हैं। लेकिन जब अधिकारियों ने उससे कागजात मांगे तो वह नहीं दिखा सका और प्रशासनिक अधिकारियों से बहस करने लगा।

 इसी दौरान पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया और थाने ले गए । इसके बाद उसके द्वारा अतिक्रमण में बनाई गई 11 दुकानें ढहा दी गई। बाद मेें उसके मकान पर जेसीबी चलाने से पहले एसडीएम ने वीडियोग्राफी करने का निर्देश दिया। 

साथ ही अन्य पत्रकारों को भी उसके मकान का निरीक्षण कराया और जब सभी लोग संतुष्ट हो गए कि मकान में कोई भी सामान या व्यक्ति नहीं है। इसके बाद उसके मकान को तोडने की कार्रवाई शुरू की गई। 

एसडीओपी कार्यालय के पास भी एक पत्रकार अरविंद तोमर ने शासकीय भूमि में 4 दुकानें बना ली थी। जिसे तोडऩे की कार्रवाई भी की गई। इस दौरान पत्रकार अरविंद तोमर ने उक्त दुकानों का पट्टा होने की बात कही लेकिन वह कोई भी दस्तावेज नहीं बता सके। 

इन दुकानों को तोडऩे के बाद टीम मैन चौराहे पर पहुंची। जहां देवकीनंदन गुप्ता की दुकान को तोड़ा गया। जबकि दुकान के पीछे स्थित मकान में सामान रखा होने के कारण एसडीएम ने मकान मालिका को 24 घंटे में मकान को खाली करने का अल्टीमेटम दिया और उससे कहा कि कल वह मकान खाली कर दे,इसके बाद उसके मकान को तोडऩे की कार्रवाई की जाएगी। 

इनका कहना है- 
एंटी माफिया मुहिम के दौरान आज करोड़ों रूपए की बेश्कीमती जमीन को अतिक्रमणकारियों से मुक्त कराया है। कस्बे में ऐसे कई अतिक्रमण चिन्हित किए गए हैं, जिन पर कार्रवाई प्रतिदिन चलेगी। ऐसे अतिक्रामकों को नोटिस भी जारी कर दिए गए हैं। आज कस्बे के चार स्थानों पर कार्रवाई की गई है। कल यह कार्रवाई और जोरों पर चलेगी। 
पल्लवी वैध, एसडीएम पोहरी