बैराड थाना प्रभारी पर 9वीं क्लास की छात्रा का बलात्कार करने का आरोप,साला अपहरण करके लाया था छात्रा को

शिवकांत सोनी/पिछोर। पिछले 24 घंटे की सबसे बडी खबर जिले के पिछोर थाने से आ रही हैं कि पिछोर थाना अंतर्गत आने वाली एक कॉलोनी में 14 साल की नाबालिग के अपहरण और बलात्कार का मामला प्रकाश में आया हैं,इसमें मामले में सबसे बडा चौकाने वाली बात यह हैं कि अपहरण और बलात्कार के आरोप आरोपी के साथ उसके जीजा पर भी लग रहे हैं,और जीजा इस वर्तमान में बैराड थाना प्रभारी हैं। पिछोर थाना पुलिस ने आरोपी पर युवक का मामला दर्ज कर लिया हैं। पीडिता के परिजनो को आरोप हैं कि पुलिस वाले पुलिस वाले को बचा रहे है।

जानकारी के मुताबिक 1 अगस्त 2019 को एक कॉलोनी में रहने वाली कक्षा 9 वीं की छात्रा उम्र 14 वर्ष को उसका पड़ौसी चेतराम झा उस समय अपहरण करके ले गया, जब छात्रा घर के पास एक हैडपंप पर पानी भरने गईथी। इसके बाद परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई तो पुलिस ने इस मामले में चेतराम के खिलाफ अपहरण का केस दर्ज कर लिया।

इसके बाद से अभी तक पुलिस न तो आरोपी पकड़ पाई और न ही बालिका का कोई सुराग लगाया था। बीते रोज बुधवार को पीडि़त पिता के पास उसकी अपहृत बेटी का फोन आया तो उसने बताया कि वह इस समय टीकमगढ़ में है और उसे चेतराम ने बंधक बनाकर रखा हैं।

बालिका ने बताया कि इस समय चेतराम सो रहा हैं इस कारण वह फोन से बात कर पा रही हैं,लेकिन टीकमगढ में इस समय कहा हैं वह बता नही सकती,इस पर पिता ने कहा कि कैसे भी करके बहार निकलो ओर किसी से बात करा कर इस जगह का पता करो।

बालिका ने ऐसा ही किया, जिससे पिता उसके पास पहुंच गया। चूंकि चेतराम अकेला था तो पिता अपनी बेटी के साथ चेतराम को भी पकड़कर पिछोर ले आया। यहां पर पीडि़ता का पिता अपनी बेटी व चेतराम को लेकर पुिलस थाने पहुंचा, जिस पर से पुलिस ने चेतराम को गिरफ्तार कर लिया,और उसको जेल भी भेज दिया गया हैं।  

बालिका ने बताया कि अपहरण होने के बाद से चेतराम उसे दिल्ली, दिनारा, शिवपुरी व टीकमगढ़ ले गया। इस दौरान चेतराम ने उसके साथ दुष्कर्म किया और साथ ही चेतराम के जीजा शिवनाथ सिंह सिकरवार ने भी उसके साथ कई बार बलात्कार किया। पुलिस ने पूरी घटना सुनने के बाद चेतराम के खिलाफ तो अपहरण व बलात्कार का केस दर्ज कर लिया लेकिन इस पूरे मामले से शिवनाथ सिकरवार, जो कि वर्तमान में बैराड़ थाना प्रभारी है, उसको बाहर कर दिया।

पीडि़ता का मेडीकल भी कराया गया, जहां डॉक्टर ने बताया कि बालिका एक माह के गर्भ से है। बालिका ने बताया कि उसने पुलिस को चेतराम व उसके जीजा शिवनाथ सिकरवार दोनों के बारे में दुष्कर्म की शिकायत की थी, लेकिन थाने में पदस्थ महिला उनि प्रियंका पाराशर ने उससे स्पष्ट बोल दिया कि कोर्ट में वह सिर्फ चेतराम का ही नाम ले।

शिवनाथ को बाद में इस मामले में देख लेंगे। अगर उसने ऐसा नहीं किया तो पुलिस उसकी कोई मदद नही करेगी। इस पर से गुरूवार को पिछोर कोर्ट में बालिका के बयान हुए जिसमें पुलिस के डर से बालिका ने चेतराम का ही नाम अपहरण व बलात्कार करने में लिया।

इधर मीडिया को जानकारी देते हुए बालिका व उसके माता-पिता ने कहा कि पुलिस ने हमको दरोगा का नाम लेने पर डरा दिया था, अब हम चाहते हैं कि इस मामले में चेतराम के साथ उसके दरोगा जीजा शिवनाथ सिकरवार पर भी कार्रवाई हो।

बताया गया हैं कि घटनाक्रम के समय वर्तमान बैराड थाना प्रभारी शिवनाथ सिंह थनरा चौकी प्रभारी थें,जिसके चलते वह दिनारा में रहते थे। बताया गया हैं कि आरोपी चेतराम झा थनरा चौकी के यहां खाना बनाने का काम करता था।

इनका कहना हैं
हा मैं लडके को जानता हू वह मेरे यहां खाना बनाता था, इस घटना के दौरान उसने मुझसे मदद मांगी थी जिसे लेकर परिजन जबरन में मेरा नाम घसीट रहे हैं वह लडकी प्रेग्नेंट हैं,उसका डीएनए भी कराकर दूध का दूध पानी का पानी हो जाऐगा मेरे उपर जो आरोप लगे हैं वह निराधार हैंं
शिवनाथ सिंह सिकरवार,थाना प्रभारी बैराड

आरोपी को जेल भेजा दिया हैं पीडिता ने पुलिस थाने में ऐसे बयान नही दिए हैं। आज पीडिता ने न्यायालय में 164 में भी बयान दिए हैं जब भी ऐसा कोई घटनाक्रम सामने नही आया था। अगर पीडिता इस मामले में आवेदन देती हैं तो जी संभव कार्रवाई करेंगें।
अजय भार्गव,पिछोर थाना प्रभारी

हां यह घटना क्रम मेरे संज्ञान में भी आया हैं,इस लडकी ने आज कोर्ट और पिछोर थाने में भी बायान दिए हैं  वहां थाना प्रभारी के बारे में कोई उल्लेख् नही किया हैं फिर भी आरोप गंभीर हैं तो इस लडकी को बुलवाकर उसके फिर से बयान लेंगेंं अगर लडकी फिर भी बोलती हैं तो सख्त कार्रवाई करेंगेंं
राजेश सिंह चंदेल,पुलिस अधीक्षक शिवुपरी