अयोध्या फैसले के बाद शिवपुरी में लोगों ने दिखाई एकता की मिशाल,सभी धर्मो के लोगों ने किया स्वागत | Shivpuri News

शिवपुरी। लम्बे समय से न्यायालय में चल रहे अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के फैसले को आज सुप्रीम कोर्ट ने विराम दे दिया है सुप्रिम कोर्ट के इस फैसले को शिवपुरी के सभी सम्प्रदाय के लोगों ने स्वीकार करते हुए अपनी खुशी जाहिर की। साथ ही प्रमुख संस्थाओं ने नागरिकों से अपील की कि वह शांति, सदभाव और भाईचारा बनाकर रखें। पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह कोई अप्रिय घटना न घटे इसके लिए चाक चौबंद थी।

फैसला आने से पूर्व पुलिस और जिला प्रशासन का स्पष्ट संदेश था कि अफवाह फैलाने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। स्कूल, कॉलेज भी बंद रखे गए। सडक़ों पर अन्य दिनों की तरह भीड़ भाड़ नहीं थी। फैसला सुनने के बाद हिन्दू संगठनों ने अपने घरों पर दीप प्रज्वलित कर खुशी जाहिर की साथ ही मंदिर पर सुन्दर काण्ड के पाठ आयोजित किए गए। हालाकि जिले में ऐतिहातिक तौर पर पुलिस ने कुछ नवयुवकों को धारा 144 का उल्लंघन करते हुए गिरफ्तार कर लिया।  

सभी धर्म के लोगों ने स्वीकारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को
राम मंदिर विवाद पर सुप्रिम कोर्ट द्वारा सुनाए गए फैसले को जिले के सभी सम्प्रदाय के लोगों ने हृदय से स्वीकार किया, अलग-अलग जाति, समाज और सम्प्रदाय के लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस फैसले हम स्वागत करते हैं।

घरों में दीपक प्रज्वलित कर मनाई खुशी
राम जन्म भूमि मंदिर के मुद्दे के सुप्रिम कोर्ट के निर्णय के बाद हिन्दू समाज ने अपने घरों पर दीप प्रज्वलित कर अपनी खुशी का इजहार किया। इसके पीछे उनका तर्क था कि यह दिन सडक़ पर जश्न मनाने का नहीं बल्कि आत्म खुशी का दिन हैं। उनका मानना था कि जिस तरह राम के वनवास से लौटने के बाद अयोध्या वासियों ने घरों पर दीप जलाकर  खुशी का माहौल निर्मित हुआ ठीक उसी तरह वे भी अपनी खुशी दीप प्रज्वलित कर मना रहे है।

संघ ने की शांति बनाए रखने की अपील
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अपने स्वयंसेवकों सहित विविध संगठनों से अपील की कि राममंदिर मुद्दे पर सुप्रिमकोर्ट का जो भी फैसला आए उसे हृदय से स्वीकार करना चाहिए इस अपील का असर जिले भर में देखने को मिला लोगों ने फैसले को हृदय से स्वीकार करते हुए शांति बनाए रखने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया किसी की भी भावना को ठेस न पहुंचे इस पर पूरा ध्यान रखा गया।