पोस्ट मैन ने खातेदार की चैकबुक अपने बेटे को दे दी,बेटे ने 60 हजार निकाल लिए | Shivpuri News

शिवपुरी। खबर जिले के सिरसौद थाना क्षेत्र के ग्राम रोनाखेडी गांव से आ रही है। जहां बीते कुछ दिनों पूर्व एक युवक के खाते 60 हजार रूपए गायब हो गए। जब युवक ने इस मामले का पता लगाया तो सामने आया कि उक्त पैमेंट चैक के माध्यम से हुआ है। जिसपर युवक ने बैंक के सीसीटीव्ही खंगाले। जिसमें उक्त युवक का फोटो देखा तो पूरा मामला क्लीयर हो गया।

जानकारी के अनुसार हाकिम सिंह जाटव निवासी रोनाखेडी का शिवपुरी स्थिति बैंक आफ इंडिया में खात है। जिसकी चैकबुक खत्म होने पर उसने नई चैकबुक के लिए आवेदन किया। जिसपर बैंक ने उसे बताया कि उक्त चैकबुक डाक से उसके पते पर पहुंच जाएगी। लेकिन लंबे समय तक उक्त चैकबुक नहीं पहुंची। बीते 12 अक्टूबर को उक्त युवक फिर बैंक में पहुंचा और उसने अपने खाते का स्टेटमेंट निकलवाया।

जिसमें उसने देखा तो उसके खाते से 60 हजार रूपए गायब थे। 60 हजार की रकम गायव देख हाकिम के होश उड गए। उसने तत्काल बैंक में पूछा कि उसका पैमेंट किसको किया है तो बैंक ने बताया कि उक्त पैमेट का आपने किसी को चैक दिया है। जिसपर हाकिम ने चैक देने से इंकार किया और पूछा कि कोई चैक से पैमेंट लेने तो आया ही होगा।

बैंक ने उक्त पूरे मामले का सीसीटीव्ही खंगाला तो सामने आया कि उक्त पैमेंट को धर्मेन्द्र पुत्र शंभुदयाल पाठक जो कि पोस्ट आफिस में पोस्टमास्टर है। उसे समझते देर नहीं लगी कि उसकी चैकबुक का दुरूपयोग कर धर्मेन्द्र से उसके साथ धोखाधडी कर डाली। तत्काल पीडित ने इस मामले की शिकायत कोतवाली में की। जहां पुलिस ने मामले में आवेदन लेकर पीडित को चलता कर दिया।

जब मामला तूल पकडता दिखा तो पीडित् पिता अपने बेटे को लेकर बैंक पहुंचा और बैंक मैनेजर के सामने युवक के 60 हजार रूपए बापिस कराए। हांलाकि अपनी और से सफाई देते हुए कहा कि हाकिम के भाई लवकुश ने उसके चैक दिया है और पीडित के पैसे भी उसे बापिस दे दिए है।