सियार ने महिला को किया जख्मी, 4 दिन में नहीं लग पाया एंटीरेबीज इंजेक्शन

पिछोर। प्राथमिक अस्पताल खोड़ के नागुली गांव में एक आदिवासी महिला को सियार ने 7 अक्टूबर की रात काट लिया। जख्मी हालत में परिजन अस्पताल लाए। लेकिन अस्पताल में एंटीरेबीज इंजेक्श नहीं लगाया गया। ऐसे में बच्चो को महिला दूध नहीं पिला पा रही है।

मनीराम आदिवासी ने बताया कि सोमवार की रात जंगली सियार ने पत्नी मीना (35) व ससुराल सुनाज वीरा से आई बेटी रीना (19) पत्नी संजय पर हमला कर दिया। हमले में दोनों बुरी तरह जख्मी हो गईं। मनीराम ने बताया कि 8 अक्टूबर वह अपनी पत्नी व बेटी को लेकर खोड़ अस्पताल पहुंचा।

यहां रोगी कल्याण समिति की पर्ची क्र 14494, 14494 कटवाकर इलाज कराया। डाॅक्टर ने टिटनेस का इंजेक्शन लगाकर पिछोर अस्पताल भेज दिया। लेकिन पिछोर आने पर एंटीरेवीज इंजेक्शन नहीं लगा। बेटी रीना का पांच महीने का बच्चा है, जिसे वह अपना दूध नहीं पिला पा रही है। वहीं पिछोर बीएमओ संजीव वर्मा का कहना है कि मैंने अस्पताल में इंजेक्शन उपलब्ध कराने जिला अिधकारी से मांग की है।