मारपीट के बाद अब आरक्षक रविन्द्र की ​पत्नि मासूम बच्चों के साथ पहुंची SP के पास

शिवपुरी। बीते तीन दिन से आरक्षक की मारपीट के मामले में अब नया मामला सामने आया है। पीडित पुलिस आरक्षक की पत्नि आज पुलिस अधीक्षक के पास पहुंची और मामले में आरोपीयों से जान की सुरक्षा की मांग की। इस मामले में पीडिता ने शिकायती आवेदन भी पुलिस अधीक्षक को सौंपा है। जिसपर एसपी शिवपुरी ने पूरे मामले में जांच कराने की बात कही है। इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने उक्त आरक्षक पर विभागीय जांच के आदेश देते हुए पीडित आरक्षक को लाईन अटैच कर दिया है।

आज पुलिस अधीक्षक को आवेदन देते हुए आरक्षक रविन्द्र शर्मा की पत्नि दीपा शर्मा निवासी निम्बाजी की खोह जीवाजीगंज लश्कर ग्वालियर ने एसपी को दिए आवेदन में बताया है कि उसके पति पुलिस विभाग में आरक्षक है जो कि वर्तमान में पोहरी के भटनावर चौकी में पदस्थ है। भटनावर चौकी पर बीते 11 जून को तत्कालीन चौकी प्रभारी सुरेन्द्र सिंह यादव के साथ चैकिंग के दौरान रावत होटल के पास एक कार से अवैध शराब का परिवहन करते हुए शराब माफिया दीपू रावत को अवैध शराब के साथ गिरफ्तार किया था।

उक्त आरोपी की पुलिस चौकी में देखरेख को लेकर रविन्द्र शर्मा की ड्यूटी लगी हुई थी। तब से ही आरोपी के पिता नरेश रावत रिश्तेदार महेन्द्र रावत,भाई देवेन्द्र रावत ने उसके पति पुलिसकर्मी रविन्द्र को दो दिन में देख लेने की धमकी दी थी। और उसके बाद से ही आरोपी उक्त आरक्षक से रंजिश रखते हुए झगडा करने की फिराक में घूमने लगे।

पत्नि दीपा शर्मा द्धारा दिए गए आवेदन में उल्लेख किया है कि उसके बाद 15 जून को उसके पास कोई भूरा धाकड का फोन आया और उसने आरक्षक को फोन पर ही गंदी गंदी गालिया देते हुए जान से मारने की धमकी दी। इस बात की शिकायत आरक्षक ने अपने ही थाने के रोजनामचे सहित तत्कालीन चौकी प्रभारी सुरेन्द्र यादव से की थी। परंतु उसके बाबजूद भी पुलिस ने उक्त आरोपीयों पर कोई कार्यवाही न करते हुए उन्हें खुला छोड दिया।

उसके बाद आरोपी आरक्षक के साथ बैर रखने लगे। बीते रोज आरक्षक अपनी कार से क्षेत्र में ड्यूटी कर रहा था। तभी आरोपी भूरा धाकड ,दीपू रावत,देचेन्द्र रावत और राजेश धाकड उक्त् घटना स्थल पर आ धमके और आरक्षक को कार से उतार कर उसके मारपीट कर दी। इस मामले में पुलिस ने पुलिस कर्मी का ही सहयोग नहीं किया। जिसके चलते इन आरोपीयों के हौसले बुलंद है और आरोपीयों से उसका पूरा परिवार दहशत में है। जिसपर पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में मामले की जांच के बाद कार्यवाही की बात कही।