अस्पताल में हत्या अपडेट: मृतक का 15 दिन पूर्व हुआ था अपने भाई से विवाद, घर से बहार किया था | Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के सरकारी अस्पताल में दिन दहाडे हुई मरीज की हत्या के मामले में अब नए खुलासे आने लगे हैं। मृतक का बेटा अब सामने आया हैं और उसने कहा कि 15 दिन पूर्व मेरे पिता की ताउ से विवाद हुआ था ओर उन्है घर से बहार निकाल दिया था। मृतक मजदूरी का कार्य करता था। उसे अस्पताल ने किसने भर्ती कराया यह अभी भी रहस्य बना हुआ हैं।

जैसा कि विदित हैं बीते मंगलवार को जिले सरकारी चिकित्यालय में अपना टीवी की बीमारी का इलाज करा रहे सुरश शाक्य की अज्ञात हत्यारे ने गला रेत कर हत्या कर दी थी। इस भरी भीड में हुए इस अंधेकत्ल काण्ड में पुलिस की जांच आगे बड रही है। अभी तक मृतक को अकेला मना जा रहा था,लेकिन अब घटना के 24 घटें बाद मृतक का बेटा पुलिस के सामने आया हैं।

मृतक के बेटे धर्मेन्द्र ने बताया कि वह 2 दिन से मजदूरी करने गया था,उसके पिता भी मजदूरी का कार्य करते थे। हम गोशाला में  रिश्ते के ताऊ के मकान में रहते थे। पिता और ताऊ का 15 दिन पहले विवाद हुआ जिसके बाद ताऊ ने उसे और पिता को घर से निकाल दिया और वह कमलागंज में रहकर मजदूरी कर रहे थे।

पिता को जिला चिकित्सालय कौन लाया किसने भर्ती कराया इस बारे में वह नहीं जानता पर इतना अवश्य बोला कि उसे किसी से सूचना मिली कि पिता की हत्या हुई है और इसके बाद वह पिता के पास आया। 24 घंटे बाद भी पुलिस इस मामले की तफ्तीश में जुटे होने की बात कह रही है और अभी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है।