भाजपा के निर्वाचित पार्षद का अपहरण, भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया-पिता ने लगाए आरोप- Shivpuri News

शिवपुरी।
जिले में नगरीय निकाय के नतीजे सामने आ चुके हैं। अब अध्यक्ष बनाने के लिए तिकडम शुरू हो चुकी है। एक एक वोट का गणित लगया जा रहा हैं,अध्यक्ष बनाने के इसी गणित में एक पार्षद के अपहरण होने का उसके पिता ने लगाया है। पार्षद भाजपा का हैं और अगवा करने के आरोप भी भाजपा मंडल अध्यक्ष पर लग रहे हैं।

रन्नोद नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 2 से विजय हुए भाजपा प्रत्याशी रणवीर परिहार के पिता ने अपने बेटे की अपहरण की शिकायत चुनाव परिणाम आने के दूसरे दिन 18 जुलाई को रनौद थाना में दर्ज कराई थी जिसके बाद जब बेटे का कोई सुराग नहीं लगा तो पार्षद बने रणवीर परिहार के पिता ने कोलारस पहुंचकर अपने बेटे को खोज निकालने की एसडीओपी को आवेदन दिया है।

दशरथ परिहार पुत्र कमल सिंह परिहार निवासी डांग पिपरी थाना रन्नौद का कहना है कि 17 जुलाई को चुनाव परिणाम घोषित हुए जिसमें उसका बेटा नगर परिषद रन्नौद के वार्ड क्रमांक 2 से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुना गया था, दिन भर लोग उसे बधाइयां देने घर आ रहे थे वह शाम को मंदिर पर अपनी जीत की खुशी में प्रसाद चढ़ाने भी गया हुआ था जिसके बाद वह रात के समय अपने घर आ गया इसी दौरान रात के तकरीबन 1:00 बजे 4 गाड़ियों में भरकर लोग आए जिन्होंने दरवाजा खटखटाया। जब मैं और बेटा रणवीर बाहर निकले तो उक्त लोगों ने जबरदस्ती उसे जान से मारने की धमकी देते हुए गाड़ी में बिठा लिया और उसे अपने साथ ले गए।

दशरथ परिहार ने बताया 4 गाड़ियों में बैठे कई लोगों में से वह अवध बोहरे, काशीराम धाकड़, बद्री धाकड़, गोलू बोहरे, विजय बोहरे और राजू रघुवंशी को जानता था। जिन्होंने उसके बेटे का घर में घुसकर अगवा किया है। उक्त दिनांक से उसके बेटे विजय का फोन भी बंद आ रहा है। रन्नौद थाना पुलिस अभी तक उसकी खोज नहीं कर पाई है इसलिए वह कोलारस एसडीओपी विजय यादव के पास अपने बेटे की जल्द से जल्द तलाश करवाने की अर्जी लेकर पहुंचे हैं।

भाजपा नेता पर लगे भाजपा प्रत्याशी को अगवा करने के आरोप

शिवपुरी जिले की नगर परिषद रन्नौद में वार्ड क्रमांक 2 से चुने हुए भाजपा प्रत्याशी विजय परिहार के पिता ने जिन लोगों पर अपहरण के आरोप लगाए हैं उनमें एक नाम अवध बोहरे का शामिल है।

अवध बोहरे रन्नौद भाजपा मंडल के अध्यक्ष हैं। कुल मिलाकर पूरा मामला नगर परिषद रन्नौद की अध्यक्ष सीट पर अपने प्रत्याशी को जिताने की जोड़-तोड़ से जुड़ा हुआ है जिसमें भाजपा के मंडल अध्यक्ष के द्वारा भाजपा की ओर से चुने हुए प्रत्याशी का ही अपहरण करना पड़ा जिसकी शिकायत रन्नौद थाने में दर्ज कराई गई है