3 वोट से चुनाव हारने वाले प्रत्याशी ने पीठासीन अधिकारी पर लगाए सांठगांठ के आरोप, बोला पुर्नगणना नहीं हुई तो करेगा अनशन- khaniyadhana News

खनियांधाना।
जिले के खनियाधाना जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत घिलौंदरा में तीन वोट से सरपंच पद का चुनाव हारने के वाले प्रत्याशी ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर पीठासीन अधिकारी पर विजेता प्रत्याशी से सांठगांठ कर चुनाव में मनमानी करने के आरोप लगाए हैं। हारे हुए प्रत्याशी का कहना है कि उसे जनता ने तो जिताया है लेकिन पीठासीन अधिकारी ने उसे टेबल पर हरा दिया। प्रत्याशी ने पुर्नगणना की मांग की है।

जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत घिलोंदरा से चुनाव में सरपंच पद के लिए चुनाव लड़ने वाले बृजेश राय अपने निकटतम प्रतिद्धंदी मनीराम राय से तीन वोटों से चुनाव हार गए। चुनाव परिणाम घोषित होते ही मनीराम की तीन वोटों से जीत घोषित होते ही बृजेश राय ने अपनी पंचायत के पोलिंग बूथ क्रमांक-4 के पीठासीन पर आरोप लगाए हैं।

बृजेश राय का आरोप है कि 25 जून को मतदान के दौरान उसकी एजेंट संगीता राय को पीठासीन अधिकारी ने पोलिंग बूथ से बाहर निकाल दिया जबकि मनीराम के एजेंट वहीं बैठे रहे। इसके अलावा जब प्रत्याशी ने पोलिंग बूथ में घुसने से रोक दिया। एजेंट की अनुपस्थिति में काउंटिंग नहीं की जा सकती है। प्रत्याशी ने कलेक्टर ने नाम आवेदन सौंप कर वोटों की सीरियल नंबर के हिसाब से वोटों की पुर्नणणना की मांग की है।

बृजेश राय का कहना है कि अगर उसकी पुर्नगणना की मांग पूरी नहीं की जाती है तो वह कलेक्ट्रेट के सामने धरना देकर अनशन करेगा और भूखा-प्यासा रह कर अपने प्राण त्याग देगा। उसके अनुसार अधिकारी गांव में जाकर लोगों के हाथ उठवा कर ओपन वोटिंग के माध्यम से भी इस बात का पता करवा सकते हैं कि जनता ने किसे वोट दिए थे।

देखें किस प्रत्याशी को मिले कितने वोट

मनीराम राय 365,बृजेश राय 362, अनीता राय 259,अमित राय 62,शरद राय 09,
रिजेक्ट वोट 59, कुल डले वोट 1116