प्रशासन ने जब्त किए शादी समारोह से 11 घरेलू सिलेंडर, सवाल यह शादी में खाना बेचा नही जाता - Shivpuri News

शिवपुरी। प्रशासन के द्वारा मिलावट के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा हैं इसी क्रम में गुरूवार को शहर के एक होटल और मैरिज गार्डन में प्रशासन ने एक शादी समारोह के लिए बन रहे खाने उपयोग किए जा रहे घरेलू सिलेंडर जब्ती की कार्रवाई की है,सवाल यह बनता हैं कि भारतीय संस्कृति में होने वाली शादियों में अपने रिश्तेदारों,दोस्तों और परिचितों को भोजन के लिए आमंत्रित किया जाता हैं और खाने के पैसे नही लिए जाते फिर यह कार्यक्रम व्यवसाय कैसे हो गया।

पहले आप खबर पढे,यह हुआ इस अभियान में
एसडीएम गणेश जायसवाल के निर्देश पर शहर में मिलावट के खिलाफ शुरू की गई कार्रवाई के क्रम में गुरूवार को नायब तहसीलदार दिलीप दुबे, सहायक खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी खुशबू शुक्ला, फूड एंड सेफ्टी आफिसर आशुतोष मिश्रा, आर आई राजस्व प्रमोद शर्मा शहर के होटलों और मैरिज गार्डन पर कार्रवाई करने पहुंचे। यह टीम सबसे पहले होटल पीएस पहुंची।

जहां से टीम के सदस्यों ने पनीर व दूध का नमूने लिए। इसके बाद होटल गोल्ड स्टार में एक शादी समारोह में भोजन पकाने के लिए घरेलू गैस सिलेंडरों का उपयोग किया जा रहा था। यहां से टीम ने 9 घरेलू सिलेंडर जब्त किए। होटल स्टार गोल्ड में सिलेंडर जब्ती की कार्रवाई के उपरांत टीम होटल मातोश्री में पहुंची।

यहां पर भी टीम ने घरेलू सिलेंडरों का व्यवसायिक उपयोग होते हुए पकड़ा और दो सिलेंडर जब्त किए। अंत में टीम होटल सोनचिरैया पहुंची और सैंपल लिए। जिन जगहों पर घरेलू सिलेंडरों का व्यवसायिक उपयोग पाया गया है, उसमें नोटिस जारी करने के उपरांत नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

एसडीएम गणेश जायसवाल का कहना था कि घरेलू सिलेंडरों के व्यवसायिक उपयोग को लेकर टीम को जांच करने के लिए भेजा था। कई जगहों से मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत नमूने एकत्रित कराए हैं। रिपोर्ट आने के बाद वैधानिक कार्रवाई होगी।

टीम ने होटल से जाकर पनीर,दूध के सैंपल लिए होटल में खाना बेचा जाता हैं पूरा एक रेट कार्ड होता हैं और इसी हिसाब से पैसे लिए जाते है,होटलो में पब्लिक को बेचे जाने वाले खाद्य पदार्थों के नमूने लिए गए यह उचित हैं लेकिन शादी समारोह में जाकर घरेलू सिलेंडर जब्त करना हो सकता है कि सरकारी नियम में हो,लेकिन यह नियम व्यावहारिक नही हैं शादी एक निजी मामला हैं।

भारतीय संस्कृति में होने वाली शादियों में परंपरा है कि शादी समारोह में अपने रिश्तेदारों और परिचितों और समाज भाइयों को आमंत्रित किया जाता हैं और उन्हें प्रेमपूर्वक भोजन कराया जाता हैं,यह भोजन बेचा नही जाता हैं तो यह कार्यक्रम व्यावसायिक कैसे हो गया।