कोलारस, बैराड़ के बाद पिछोर में भी ओलावृष्टि, किसानों की फसलें तबाह- kolaras News

शिवपुरी।
कल तक जिले में बदरवास और कोलारस क्षेत्र से ओलाबृष्ठि की खबरें आती रही। उसके बाद कल देर शाम खबर बैराड क्षेत्र से आई। जहां ओलाबृष्ठि ने किसानों की फसलें बरबाद हो गई। इसी बीच खबर पिछोर से आई यहां भी ओलाबृष्ठि ने किसानों को पूरी तरह बर्वाद कर दिया।

बताया गया है कि पिछोर के कुछ गांव में ओलावृष्टि से किसानों की फसल खराब हुई है जिसमें पिछोर के सेमरी,रखोरा,मलावनी,राजापुर,पटसेरा,भगवा,दुर्गापुर,भरतपुर,बदनपुर,कमलपुर,गजोरा,नयागांव,अढजार,कुटावली,टेकरी,रमपुरा,कोयलन कमलपुर, बदनपुर ,आगर गांव में ओलावृष्टि की वजह से गेहूं और चना सरसों की फसल प्रभावित हुई है और अधिक नुकसान हुआ है।

इसके साथ ही कई गांव में तो फसल को अधिक नुकसान हुआ है जहां तेज हवा के साथ बारिस होने से कुछ गांव में किसानो का कहना है कि खेत में फसल जमींन पर बिछ गई है और जिन किसानोें की सरसों की फसल बड़ी हो गई थी ओर उसमें फूल आ गया था तो वह भी तेज बारिश में झड़ गए है। फसल खेतों में गिर गई। जिससे भारी मात्रा में नुकसान हुआ है ।

अब किसानों का कहना है कि हमने जैसे-तैसे तो फसल की बुवाई की हुई थी एक-एक बोरी खाद की बोरी के लिए तरस गए थे और उधारी लेकर खेतों में जुताई की थी पर इसके बाद खेतों में बुवाई की गई तो फिर पानी देने के लिए बिजली का बिल जमा किया और अब फसल बडी हुई ती इतनी मेहनत के बाद तो अब ओलावृष्टि से फसल नष्ट हो गई अब किसानों का कहना है कि अब हम क्या करें हमने जिससे पैसे लिए थे वह कर्ज हम कैसे वापस करेंगे।

इसी को लेकर राज्य सरकार के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कलेक्टरों को सर्वे के निर्देश दिए हैं इसी निर्देश अनुसार पिछोर अनुविभागीय अधिकारी जेपी गुप्ता उनके साथ राजस्व विभाग के पटवारियों द्वारा सर्वे किया जा रहा है और उन्होंने कहा है कि किसानों को घबराने की जरूरत नहीं है सर्वे के अनुसार फसल का नुकसान हुआ है जो उसका मुआवजा दिया जाएगा।