पूर्व DSP ने गार्ड ने कराई थी झूठी FIR, CCTV भी निकला झूठा, अब लगेगा खत्मा

शिवपुरी। बीते दिनों पूर्व डीएसपी सुरेश सिंह सिकरवार के गार्ड सुल्तान सिंह यादव ने शिकायत दर्ज कराई कि 23 अक्टूबर को रात्रि करीब 9 बजे एक कार में सवार होकर कुछ बदमाशों ने पूर्व डीएसपी सुरेश सिंह सिकरवार के घर के सामने देशी कट्टा लकराते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए व गाली गलौंच करते हुए फरार हो गए। इस मामले में पुलिस को सुरेश सिंह सिकरवार की और से एक सीसीटीव्ही फुटेज भी उपलब्ध कराया था। जिसमें एक कार नजर आ रही है।

इस मामले में पुलिस ने अमन चौहान सहित कुछ अज्ञात पर मामला दर्ज कर जब मामले की जांच की तो पूरा मामला फर्जी निकला। जांच में पता चला कि घटना वाले दिन 5 लोग पकंज धानुक, अंकित, शिवम, साबू उर्फ इमरान खान व कृष्णकांतकलावत निवासीगण शिवपुरी, एक बिना नंबर वाली कार से निकले थे, लेकिन उन लोगों में से किसी ने ऐसी कोई घटना घटित नहीं की।

केवल शिवम अपने दोस्त से मोबाइल पर बात कर रहा था और बात करते में अपने दोस्त को गाली दी थी, लेकिन उनका रिटायर्ड डीएसपी से कोई लेना-देना नही था शिवपुरी. शहर की महाराणा प्रताप पुलिस ने सभी लोगों के बयान भी दर्ज किए है। साथ ही रिपोर्ट में डीएसपी के गार्ड ने अमन चौहान का नाम लिखाया था, उसकी भी पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के साथ सीडीआर निकलवाई तो अमन घटना वाले समय अपने घर पर था और उसके घर के बाहर घूमने के सीसीटीवी फुटेज भी उपलब्ध है।

इस पूरे मामले में अमन चौहान की मां सुमन चौहान ने बताया कि उनके बेटे सौरभ की जमानत की सुनवाई 24 अक्टूबर को होनी थी, इसलिए योजनाबद्ध तरीके से रिटायर्ड डीएसपी सिकरवार ने यह एफआइआर दर्ज करवाई, जिससे उनके बेटे की जमानत कोर्ट से न हो सकें।

इनका कहना है
हमने मामले की जांच की तो ऐसा कुछ नहीं निकला। जिस युवक अमन चौहान पर आरोप लगाया गया था, वह घटना वाले समय अपने घर था, उसके फुटेज व अन्य सबूत हमारे पास हैं। साथ ही जो लोग वहां से उस समय निकले थे, सभी के बयान ले लिए गए हैं। ऐसी कोई घटना नहीं हुई। जल्द मामले में खात्मा लगाने की कार्रवाई होगी।
सुनील खेमरिया,टीआई, कोतवाली