फर्जी D.ed डिग्री देने बाले दो संचालकोंं को 5 साल की जेल, देना होगा जुर्माना- karera News

करैरा। जिले के करैरा में फर्जी डीएड डिग्री देने वाले 2 संचालको को 5 वर्ष के कठोर कारावास +की सजा सुनाई गई। करैरा में फर्जी डीएड कराने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले दो लोगो को एडीजे अतुल सक्सेना ने 5 वर्ष के कठोर कारावास व जुर्माने की सजा सुनाई है।

जानकारी के अनुसार वर्ष 2013 में ग्राम दौनी निवासी पपेन्द्र रावत एवं देवेन्द्र रावत दोनो भाईयों ने डीएड की फर्जी डिग्री दिए जाने के लिए रामेश्वर इंस्टीटयूट करैरा में खोला, और बेरोजगार छात्र छात्राओं से प्रवेश शुल्क लेकर ग्वालियर से डीएड डिग्री दिलवाए जाने का धोखा कर लाखों रूपए प्राप्त किए। जब छात्र छात्राओं को फर्जी बाडे की भनक लगी तो उन्होंने थाने में पहुंचकर रिपोर्ट लिखवाई जिस पर पूरी जांच होकर न्यायालय में मामला आया।

6 साल तक न्याय की गुहार लगाने वाले बेरोजगार छात्र छात्राओ के चेहरे खुशी से तब खिल गए जब न्यायालय द्वारा आरोपीगण के कृत्य को संगीन मानते हुए यह टिप्पणी की आरोपीगण के कृत्य से सुनहरे भविष्य की नींव रखे जाने से पहले ही मासूम छात्र छात्राओं का जीवन अंधकार मय हो गया। न्यायालय अतुल सक्सेना द्वितीय जिला न्यायाधीश ने आरोपीगण की समस्त दलील नकारते हुए उन्हें 5 वर्ष के कठोर कारावास एवं जुर्माने से दण्डित किया। मामले की पैरवी अतिरिक्त लोक अभियोजक हर्षवर्धन दुबे द्वारा की गई। प्रकरण में छोटेलाल कुशवाह एएसआई द्वारा साक्षीगण की प्रस्तुती में सहायता की गई।