करंट नही भ्रष्टाचार बना मौत का कारण: घर पर शौचालय नहीं बना, पांच साल में सिर्फ गड्‌ढा खुदा - karera News

करैरा। खबर करैरा अनुविभाग में आने वाले गांव सिरसौद गांव से आ रही हैं। जहां एक महिला की मौत करंट लगने से हा गई है,महिला की मौत के साथ पंचायत पर सवाल खडे कर रही है। पंचायत ओडीएफ घोषित हो चुकी हैं,फिर महिला की खुले में शौच क्या गई...मृत महिला के ससुर का कहना है कि हमारे यहां सिर्फ 5 साल में शौचालय का गढडा खुदा है। यहां कंरट के साथ पंचायत का भ्रष्टाचार भी महिला की मौत का दोषी हैं।

करैरा के ओडीएफ घोषित आदर्श गांव में शुक्रवार की सुबह खुले में शौच के लिए गई महिला की तार फेसिंग में करंट लगने से मौत हो गई है। पड़ोसी किसान ने अपने खेत की चारों तरफ से तार फेंसिंग करके रखी है। मोटर पंप वाला तार टूटकर तार फेंसिंग पर गिर गया। उसी से महिला को करंट लगा। पुलिस ने मामला जांच में ले लिया है।

रबूदी उम्र 29 साल पत्नी अरविंद लोधी निवासी सिरसौद सुबह खुले में शौच करने निकली। बताया जा रहा है कि शौच करके लौटते वक्त पड़ोसी किसान रामेश्वर दयाल के खेत की तार फेसिंग पार कर रही थी। रबूदी लोधी तार फेंसिंग में करंट फैलने से अनभिज्ञ थी, तार पकड़कर उठाते वक्त करंट लग गया।

आनन फानन में परिजन इलाज कराने करैरा लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। करंट लगने से रबूदी लोधी के दोनों हाथों की चमड़ी निकलकर फेसिंग के तारों में चिपक गई। खास बात यह है कि रबूदी के पहले परिवार के अन्य लोग भी खुले में शौच होकर लौट आए थे। उस वक्त बिजली सप्लाई नहीं थी।

घर पर शौचालय नहीं बना, ससुर बोला- पांच साल में सिर्फ गड्‌ढा खुदा

मृतिका के ससुर श्यामलाल लोधी ने बताया कि उनके घर शौचालय नहीं बना है। पांच साल पहले से गड्‌ढा खुदा पड़ा है। सरपंच-सचिव से कई बार कह चुके, वह हमेशा से टालते आ रहे हैं।

कहते हैं कि आपका शौचालय मंजूर नहीं हुआ है। जबकि कागजों में पूरी पंचायत ओडीएफ घोषित हो चुकी है। यदि घर पर ही शौचालय बना होता तो रबूदी की जान बच सकती थी।