चिल्ड्रन वार्ड कहे या सीवर वार्ड: उफन रहा हैं सीवर, खाली पंलगो को मरीजो का इंतजार - Shivpuri News

शिवपुरी। देश में स्वचछता के नाम पर तमगे बट रहे हैं,स्वचछता के लिए अभियान चलाया जा रहा हैं। हमारा शिवपुरी का अस्पताल कभी स्वच्छता को लेकर नंबद वन के पायदान पर थी,लेकिन वह अपना स्थान बरकरार नही रख पाया। जिलेे के सरकारी अस्पताल में सफाई का यह आलम है चिल्ड्रन वार्ड के सीवर उफन रहे हैं। सीवर उफने के कारण शौचालयो का यूज नही किया जा रहा हैं और बदबू आ रही हैं।

वही जिला अस्पताल में पलंग तो है ही लेकिन इन पलंगों को मरीजों का इंतजार है। क्योंकि पलंग खाली पडे है और जो मरीज अपना इलाज कराने आए है वह मरीज भी जमीन पर नीचे लेटे नजर आ रहे हैं लेकिन वार्ड में पलंग खाली होने के बाद भी मरीजों को पलंग तक नसीब नहीं हो रहे हैं।

मेडीकल वार्ड में पलंग खाली नीचे मरीज

मेडीकल वार्ड में मरीज तो मिले लेकिन यहां कुछ पलंग खाली थी जबकि बाहर बरामदे में कई मरीज जमीन पर ही अपना इलाज कराने को मजबूर थे क्योंकि उन्हे पलंग तक नहीं दिए गए जिससे मरीजों को उपचार कराने के लिए मजबूरी में जमीन का ही सहारा लेना पडा।

खैराती अस्पताल भगवान भरोसे

जिले का सबसे बडे खैराती अस्पतपाल में व्यवस्थाएं भगवान भरोसे हैं और यहां मरीजों को न तो पलंग मिल रहे है और न ही सही ढंग से उपचार मिल रहा है बल्कि उन्हें एक्सरे तक वाहर से कराने पड रहे हैं। ऐसे में दवाओं से लेकर पटटी व अन्य सामान तक बाजार से लाना पड रहा है।

चिल्ड्रन वार्ड बनाम सीवर वार्ड

प्रदेश का कभी नंबर 1 रहा जिला अस्पताल अपनी ही बदहाली पर आंसू बहाने को मजबूर है। यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि इसकी तस्वीरे खुद जिला अस्पताल ही वयां कर रहा है। जिला अस्पताल के चिल्ड्रन वार्ड में बना टायलेट पूरी तरह से चौक है और इसका सीवर टायलेट के बाहर निकल रहा है। इससे साफ जाहिर होता है कि यह चिल्ड्रन वार्ड बनाम सीवर वार्ड बन गया है।