शिवपुरी में एक दिन में लगेगी 8548 लोगों को कोरोना वैक्सीन,400 वैक्सीनेटर्स लगाएंगे टीका - Shivpuri News

शिवपुरी । जिले में तीन स्थान चिन्हित किए गए हैं जिसमें जिला चिकित्सालयए कोलारस सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और वर्मा नर्सिंग होम शामिल हैं। यहां ड्राई रन के लिए 25-25 लोगों को बुलाया गया था। इसमें आशा कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता को रजिस्टर्ड किया गया है। पूरी प्रक्रिया के लिए 5 सदस्यीय टीम गठित की गई है। 

कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने चिकित्सालय पहुंचकर वैक्सीनेशन ड्राई रन का जायजा लिया और जरूरी दिशा निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए एल शर्मा और डॉक्टर संजय ऋषीश्वर ने वैक्सीनेशन प्रक्रिया की जानकारी दी। इस दौरान मेडिकल कॉलेज के डीन भी उपस्थित थीं। 

मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी अर्जुन लाल शर्मा ने बताया कि कोरोना वैक्सीन ड्राई रन का आयोजन आज हमारे द्वारा किया गया हैं। विभाग ने इसको लेकर तैयारियां भी पूरी कर ली हैं। शहर में 8548 स्वास्थकर्मियों को पहले चरण में कोरोना वैक्सीन लगनी है। इसमें जिले के स्वास्थ्यकर्मीए आंगनवाडी कार्यकर्ता, सामाजिक कल्याण विभाग के कर्मचारी और सफाईकर्मी शामिल हैं।

जिले में वैक्सीनेशन की प्रारंभिक तैयारियां पूर्ण हैं। इसलिए जैसे ही इसकी तारीख की घोषणा की जाएगी तो एक दिन में ही सभी साढे आठ हजार स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना की वैक्सीन एक ही दिन में लगा दी जाएगी। टीकाकरण की शुरुआत फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ की जा रही है। अगस्त और सितंबर में कोरोना अपने चरम पर पहुंचा। 

इस दौरान कई स्वास्थ्यकर्मियों से लेकर कई चिकित्सक तक संक्रमित हुए। यह लोग कोरोना की जांच करने से लेकर कंटेनमेंट जोन में सर्वेए दवाई उपलब्ध करानाए कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करना तक सभी जिम्मेदारियां निभा रहे हैं। इस दौरान इन्हें भी संक्रमण हुआ। स्टाफ पॉजिटिव आया। जब बात कोरोना वैक्सीन लगाने की आई तो यहां भी फ्रंटलाइनर्स को आगे रखा गया। जैसे ही वैक्सीन लगने की तारीख तय होगी तो मास्टर ट्रेनर्स इसका प्रशिक्षण देंगे।

फोकल पॉइंट हो रहे तैयार
स्वास्थ्य विभाग कोरोना वक्सीनेशन के लिए फोकल प्वॉइंट तैयार कर रहा है। इसके लिए शहर में 22 फोकल प्वॉइंट बनाए गए हैं। यहां से वैक्सीन संबंधित जगहों पर ट्रांसफर की जाएगी और आगे डिस्ट्रीब्यूट की जाएगी।

वैक्सीन पर लिखा होगा नाम, नहीं हो सकेगी गड़बड़ी
कोरोना वैक्सीनेशन की पूरी जानकारी कोविन सॉफ्टवेयर पर अपलोड की जाएगी। टीकाकरण टीम को वैक्सीन लगाने वाले व्यक्ति का वेरिफिकेशन भी कोविन साफ्टवेयर के माध्यम से करना होगा। वैक्सीनेशन करने के बाद भी आधा घंटा उसे निगरानी में रखना होगा फिर ओके रिपोर्ट इसी साफ्टवेयर पर अपलोड करनी होगी। 

कोरोना की हर वैक्सीन पर उस व्यक्ति का नाम भी लिखा होगा जिसे वैक्सीन लगाई जानी है। इसके साथ ही यह भी तय होगा कि वैक्सीन किस तारीख को किस व्यक्ति को कौन सा वैक्सीनेटर लगाएगा। इससे सिर्फ सही व्यक्ति को वैक्सीन लगाई जाएगी और कोई भी गड़बड़ी नहीं कर सकेगा।