शासकीय शिक्षक ने किया छत पर अग्निस्नान, इलाज के दौरान मौत / Shivpuri News

शिवपुरी। पोहरी थाना क्षेत्र के लालकोठी के समीप रहने वाले सेवानिवृत्त बैंककर्मी के पुत्र व शिक्षक प्रदीप तिवारी ने गुरुवार दोपहर करीब 3 बजे घर की छत पर जाकर खुद पर ज्वलनशील पदार्थ डाल लिया। आग के हवाले कर दिया। चीख-पुकार सुनकर पड़ोसियों ने परिजनों की मदद से गंभीर अवस्था में झुलसे शिक्षक को पहले पोहरी अस्पताल पहुंचाया। जहां से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया, लेकिन हालत नाजुक होने के चलते जिला अस्पताल से उसे ग्वालियर रेफर कर दिया गया जहां देर रात उसकी मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

कुछ माह पहले ही खुद व शिक्षिका पत्नी का कराया था ग्वालियर तबादला

पोहरी में शिक्षक प्रदीप तिवारी से जुड़े शिक्षकों ने बताया कि प्रदीप माध्यमिक शिक्षक था। कुछ माह पहले तक पोहरी के ही मावि जाखनौद में पदस्थ था, जबकि पत्नी संध्या तिवारी भटनावर हायर सेकंडरी में वरिष्ठ शिक्षक के पद पर कार्यरत थी।

कुछ माह पहले ही पति-पत्नी से स्वेच्छा से ऑनलाइन ग्वालियर तबादला कराया था। वहीं नौकरी कर रहे थे। कोरोना काल में दोनों अपने ग्रह ग्राम पोहरी लौटे थे, जहां घर में माता-पिता के अलावा छोटा भाई सुनील तिवारी भी सपरिवार निवास करता था। फिलहाल आत्मदाह शिक्षक ने किस कारण से किया, यह साफ नहीं हो सका है।

ग्वालियर तबादले के बाद से था परेशान

शिक्षक से जुड़े नजदीकी लोगों की मानें तो ग्वालियर तबादले के बाद से ही शिक्षक कुछ परेशान था और दोस्तों से चर्चा के दौरान भी उसने इस बात का जिक्र किया था कि उसका मन ग्वालियर में नहीं लग रहा। बताया जाता है कि गुरुवार की दोपहर वह बाजार स्टेशनरी का कुछ सामान लेने निकला था और घर लौटने के बाद वह छत पर पहुंचा व दरवाजे की कुंदी भीतर से लगा ली। इसके बाद ज्वलनशील पदार्थ शरीर पर डालकर खुद को आग के हवाले करा लिया।

ये बोले थाना प्रभारी
प्राथमिक पड़ताल में यह बात सामने आई है कि शिक्षक का ग्वालियर तबादला होने से वह दुखी था। गुरुवार को घर की छत पर जाकर आत्मदाह कर लिया। फिलहाल जांच व पूछताछ की जा रही है। स्पष्ट कारण जांच के बाद ही सामने आ सकेंगे।
डीबीएस तोमर, थाना प्रभारी पोहरी।