चर्चा का विषय बनी सेना भर्ती के ग्राउंड में लगी मिठाई की दुकान,यहां भी खाद्य विभाग का घोटाला | Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर के फिजीकल कॉलेज ग्राउण्ड से आ रही है। जहां कलेक्टर महोदय कल से होने बाली सेना भर्ती में पूरी पारदर्शिता लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। जिसके चलते कलेक्टर अनुग्रह पी स्वयं इस भर्ती की तैयारीयों का निरीक्षण कर रही हैं।इस ग्राउंड से लगी एक मिठाई की दुकान अब चर्चा का विषय बन गई हैं।

जानकारी के अनुसार कल से फिजीकल ग्राउण्ड में सेना की रैली भर्ती होना है। इस भर्ती में शामिल होने 13 जिलों से लगभग 11 हजार युवा आएंगे। पिछली भर्ती में हुए हंगामे और तोड फोड को लेकर इस बार कलेक्टर ने इस पूरे आयोजन की जिम्मेदारी को बडी ही बारीकी से निरीक्षण कर मोनिटरिंग की है। जिसके चलते भर्ती में सम्मलित युवाओं को शहर से बाहर तक छोडने की व्यवस्था भी कलेक्टर मैडम ने बसों के माध्यम से की है।

परंतु इसी बीच खबर आई कि इस भर्ती के दौरान युवाओं को चाय नास्ता और पूडी की व्यवस्था के लिए अंदर ही खानपानी की व्यवस्था की हैं,लेकिन इस व्यवस्था में ही खादय विभाग अधिकारी नारायण लाल शर्मा ने अपनी व्यवस्था बना ली। इतने सारे युवाओ के लिए एक दुकान सोचने वाली बात हैं। ऐसा क्यो।

फोटो में स्पष्ट साफ दिख रहा हैं कि यह कई स्टॉल लगाए जा सकते थे,लेकिन एक ही स्टॉल लगाया गया हैं और क्यो नही सवाल बार—बार उठ रहा हैं,एक ही स्टॉल लगने के कारण वहां भीड होगी और अव्यवस्था भी हो सकती हैं।

यह स्टॉल किस नियम के तहत एक मात्र लगी हैं,सवाल आ रहा हैं किस गणित से एक ही स्टॉल हैं और क्यो नही। बताया जा रहा हैं कि ग्राउंड में सब्जी पूठी और मिठाई बेचने वाली सोमेश्वर महादेव मिष्ठान भंडार इन खादय अधिकारी महोदय के करीबी की हैं। इस कारण ओर किसी मिठाई वाले को इस ग्राउंड में खादय विभाग ने घुसने नही दिया।

अब चने घोटाले में फसे खादय अधिकारी ने सेना भर्ती में ही घोटाला करने की तैयारी कर ली हैं। एक ही स्टॉल है परिमिशन किस गणित किस नियम किस हिसाब दी गई हैं,पता नही। अगर खादय विभाग को सब साफ सुधरा रखना था तो और भी स्टॉल लगावा सकते थे,लेकिन नही।

खादय अधिकारी का इस मामले में तर्क दिया कि हमने तीन लोगों को उक्त काम दिया है वह पहले भी चुनाव के दौरान प्रशासन की मदद कर चुके है। उन्हीं लोगों को यह काम दिया गया है। जो वही आया लगाने को हमने हां भर दी और उसने स्टॉल लगा ली। अब एक अकेली दुकान पर भीड होगी और अवव्स्थाए अवश्य होगी। अगर विभाग की मंशा साफ होती तो वहं अपने खादय की अन्य  दुकानो को लेटर जारी कर या खबर प्रकाशित करवाकर और भी स्टॉल लगवा सकते थे,लेकिन ऐसा नही हुआ कुल मिलाकर खादय विभाग ने अपनी यहां भी जुगाड फिट कर ली हैं।

इनका कहना है
इसमें कोई टेन्डर नही खोले गए है। यह काम एक नहीं तीन लोगो को दिया गया है जो पैड है। इसमें अभ्यार्थी अपने पैसे से इसे खरीदेंगे और खाएंगे। यह वही लोग है जिन्होंने चुनाव के दौरान भी प्रशासन के साथ काम किया था। जिसके चलते इन्हे यह काम दिया गया है। इसमें कोई घोटाला नहीं हुआ है। इन दुकानदारों से 25 25 हजार रूपए रेडक्रॉस में भी जमा कर रहे है।
नारायण शर्मा,जिला खादय अधिकारी शिवपुरी।