बच्चे देश का भविष्य हैं, इनके स्वस्थ एवं मजबूत होने पर ही देश मजबूत होगा: कमिश्नर शर्मा | Shivpuri News

शिवपुरी। ग्वालियर संभागायुक्त बी.एम.शर्मा ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है। भविष्य मजबूत एवं स्वस्थ्य रहेगा तो समाज एवं देश भी स्वस्थ्य एवं मजबूत होगा। इसके लिए बच्चों का शारीरिक एवं मानसिक विकास ठीक ढंग से हो, इसकी चिंता माता-पिता एवं समाज को भी करनी होगी। जिससे बच्चे भविष्य में परिवार, समाज एवं देश को बेहतर सेवाएं देकर अपने माता-पिता एवं जिले का नाम रोशन कर सके।

संभागायुक्त श्री शर्मा ने उक्त आशय के विचार आज शिवपुरी में आयोजित बाल शिक्षा केन्द्र गौशाला वार्ड क्रमांक-16 में शुभारंभ कार्यक्रम में व्यक्त किए। बाल शिक्षा केन्द्र वार्ड क्रमांक 16 गौशाला में आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी, नगर पालिका अध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एच.पी.वर्मा, अपर कलेक्टर आर.एस.बालोदिया, एसडीएम अतेन्द्र सिंह गुर्जर, वार्ड पार्षद लालाजी आदिवासी सहित गणमान्य नागरिक, अधिकारीगण, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा बच्चों के अभिभाषक उपस्थित थे।

संभागायुक्त श्री शर्मा ने कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले बच्चे देश का भविष्य है। अगर यह बच्चे शारीरिक एवं मानसिक रूप से मजबूत एवं स्वस्थ्य रहेंगे तो समाज एवं देश भी मजबूत रहेगा। जिससे यह अपने परिवार, समाज एवं देश के विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर सेवा कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों में तीन वर्ष तक पढ़ने वाले बच्चों को शिक्षा का जो माहौल दिया जाता है।

उसी प्रकार का माहौल मध्यम एवं गरीब परिवारों के आंगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले बच्चों को इन केन्द्रों के माध्यम से प्राप्त हो, इसके लिए राज्य सरकार ने आज से आंगनवाड़ी केन्द्रों को बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित किए जाने का कार्यक्रम शुरू किया है। जिसके तहत आज शिवपुरी के वार्ड क्रमांक-16 में बाल शिक्षा केन्द्र गौशाला का शुभारंभ किया गया है।

श्री शर्मा ने बच्चों के माता-पिता से आग्रह किया है कि वह आंगनवाड़ी एवं स्कूल जाने योग्य सभी बच्चों को आंगनवाड़ी केन्द्र एवं स्कूल अवश्य भेजें। श्री शर्मा ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से कहा कि आप शौभाग्यशाली है कि आपका चयन गरीब बच्चों की देख-रेख एवं उनकी शिक्षा के लिए हुआ है। अतः बाल शिक्षा केन्द्र में आने वाले सभी बच्चों को अपने बच्चे समझकर शिक्षा देने के साथ संस्कार भी दें। जिससे आंगनवाड़ी केन्द्र का नाम रोशन होगा।

कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बाल शिक्षा केन्द्र योजना सरकार की महत्वांकाक्षी योजना है। इस योजना के तहत निजी स्कूल के समान आंगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले 3 वर्ष तक के बच्चों का बाल शिक्षा केन्द्र के माध्यम से नर्सरी की शिक्षा प्राप्त होगी। नगर पालिका परिषद शिवपुरी के अध्यक्ष श्री मुन्नालाल कुशवाह ने बच्चों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि इन केन्द्रों के माध्यम से गरीब तबके के बच्चों का बेहतर नर्सरी की शिक्षा प्राप्त होगी।

कार्यक्रम के शुरू में जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री देवेन्द्र सुन्द्रियाल ने बाल शिक्षा केन्द्र योजना पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि पूरे प्रदेश में आज 313 आंगनवाड़ी केन्द्रों को बाल शिक्षा केन्द्र के रूप में विकसित कर शुरू किया जा रहा है। जिसमें शिवपुरी जिले के प्रत्येक विकासखण्ड में एक केन्द्र शामिल है।

उन्होंने बताया कि आंगनवाड़ी केन्द्र पोषण आहार वितरण तक ही सीमित न रहे। बल्कि केन्द्रों में आने वाले बच्चों को बेहतर वातावरण एवं नर्सरी की शिक्षा भी प्राप्त हो सके। इसके साथ ही बच्चों की प्रतिभाओं को निखारने का कार्य भी किया जाएगा।

बच्चों को बांटे बैग
संभागायुक्त श्री शर्मा ने वार्ड क्रमांक-16 गौशाला में बाल शिक्षा केन्द्र का फीता काटकर केन्द्र का शुभारंभ कर बच्चों से चर्चा कर उन्हें पाठ्य-पुस्तक एवं बैग भी प्रदाय किए। इस मौके पर पौधरोपण कार्यक्रम में भी भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन गिरीश मिश्रा ने किया।