Ads 720 x 90

गर्मी में स्टेशन पर पानी के लिए मची हाहाकार, ​वाहवाही लूटने समाजसेवी संस्थाओं ने लगाया था वाटर कूलर, | kolaras, SHIVPURI NEWS

कोलारस। अभी तक आपने देखा या सुना होगा कि फलाने समाज सेवी संस्था ने अस्पताल में पहुंचकर मरीजों के लिए फल वितरण किए। इसका बकायदा फोटो शेसन भी कराया। परंतु पता चला कि समाजसेवी संस्था महज फोटो शेसन के लिए ही अस्पताल पहुंंची। संस्थाओं के पास महज चार केले है। कभी आपने देखा होगा कि हाथ में झाडू लेकर स्वच्छ भारत अभियान का फोटो शेसन करा रहे है। परंतु उनके ही कार्यालय में गंदगी का अंबार पसरा हुआ है। ठीक बैसा ही हाल इन दिनों कोलारस में देखने को मिल रहा है। जहां बीते वर्ष समाज सेवी संस्था जैन मिलन ने कोलारस स्टेशन पर प्याउ का शुभारंभ करते हुए बाटर कूलर लगवाया। यह कूलर लगवाकर उक्त संस्था भूल गई। आज रेलवे स्टेशन पर पानी के लिए हाहाकार मची हुई है।  

विदित हो कि पिछले वर्ष गर्मियों में समाज सेवी संस्था जैन मिलन कोलारस द्वारा रेलवे स्टेशन पर पानी की किल्लत को देखते हुए बाटर कूलर के साथ प्याउ का शुभारंभ किया था। इसका बकायदा फोटो सेशन भी कराया गया। उसके बाद उक्त संस्था इस प्याउ को भूल गई। अब अप्रैल माह शुरू हो गया है और भीषण गर्मी भी अपना असर दिखा रही है और इस समय आदिवासी मजदूर ट्रेन से कटाई के लिए मुरैना आगरा जा रहे है।

जिसके चलते कोलारस के एकमात्र रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का जमावड़ा दिखाई देता है और ठंडे पानी के लिए इधर उधर भटकते हैं। तब उनकी नजर उक्त पानी की प्याऊ पर पड़ती है तो वह आस लगाकर वहां पहुंचते हैं अपनी प्यास बुझाने पानी ना होने के चलते वह निराश होकर वापस स्टेशन पर लगे हुए हेडपंप पर जाकर अपनी प्यास बुझा पा रहे हैं। कुल मिलाकर कोलारस में स्वयंसेवी संस्थाएं अनेक कार्यरत हैं परंतु अधिकांश संस्थाएं दिखावे के लिए ऐसे कार्य करती हैं।

इसके बाद फोटो खिंच आने के बाद वह उस कार्य की ओर ध्यान नहीं देते इसके चलते लोग उन को ही कोसते हुए दिखाई देते हैं जबकि रेलवे स्टेशन पर अभी  सवारिया अधिक होती है क्योंकि कई गाड़ियों का आना जाना शुरू हो गया है इसके चलते रेलवे स्टेशन पर दिखावा बनी प्याऊअभी चालू हो जाए तो यात्रियों की प्यास बुझ सकती है जैन मिलन के पदाधिकारियों को उस बंद पड़ी प्याऊ को चालू करवाना चाहिए जिससे लोगों को भीषण गर्मी में पानी के लिए परेशान ना होना प