रिश्वत लेते का वीडियो वायरल होते ही बौखलाया आधार कार्ड सेंटर संचालक, पर्चे चिपकाए - khaniyadhana News

शिवपुरी। खबर जिले के खनियांधाना से आ रही है। जहां बीते रोज खनियांधाना के निवासी और वहां के मीडियाकर्मीयो ने एक आधार कार्ड सेंटर का स्टिंग आपरेशन के बाद बौखलाए सेंटर के संचालक ने सेटर पर ताला डालकर अब इस काले कारनामें को दबाने के लिए प्रशासन पर दबाव बनाने का प्रयास कर रहा है। इस मामले की शिकायत अब पुलिस से की। जहां पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

विदित हो कि खनियाधाना में जनपद पंचायत में केंद्रों पर आधार कार्ड बनवाने और संशोधन कराने के नाम पर अवैध वसूली के मामले लगातार सामने आ रहे है नगर में जनपद पंचायत में बन रहै आधार कार्ड सेंटर पर आधार कार्ड बनवाए जाने के नाम पर अवैध वसूली की वीडियो बनाकर बलराम पाल सोशल मीडिया तथा पत्रकारों को दी जिसकी खबर लगने से बौखलाए आधार कार्ड सेंटर संचालकों ने आधार कार्ड सेंटर के बाहर शिकायतकर्ता बलराम पाल के बारे में एक लेटर चिपका दिया ।

जिसमें उलेख किया कि आधार सेन्टर बलराम पाल जो अपने को खनियांधाना मीडिया नेताजी बाता ते और सभी अधिकारी उनको जूती को नीचे काम करते है जिनको द्वारा आधार सेन्टर पर अभद्र गाली गलोच करने एवं सेन्टर को झूठा बीडियो बनाकर बदनाम करने के कारण आगामी समय तक सेन्टर को बन्द किया गया है


जिसको कारण जो भी जनता परेशान होती है जिसकी जिम्मेदार खनियाधाना मिडिया कर्मी जिनके नम्वर निम्न है बलराम मीडिया नेता - मो . 8517974894 . शिवकांत सोनी मीडिया कर्मी .9806067474 . शिवम् पाडे मीडिया कामी- 8357045309 आप सभी जनता से हाथ जोडकर निवेदन है कि इन लोगो से सम्पर्क करे और इन्ही से आधार वनवाने को कहे अगर एमना करते है तो इनकी शिकायत तहसीलदार एस.डी. एम महोदय जी से शिकायत वही इस तरह के भद्दे लिखित शब्दों के बारे में बलराम पाल ने लिखित आवेदन खनियाधाना थाने में दिया है।

जिसमें उल्लेख किया गया है कि मेरी पुत्री के निःशुल्क होने वाले आधार नामांकन के एवज में बीते दिनों 200 रुपये मांगे गए थे जिसकी रसीद देने से इंकार किया गया एवं सेंटर पर स्थित दो कर्मचारियों जिनके नाम पता नहीं हैं उक्त्त लोगों ने पैसे न देने के कारण आधार का नामांकन नहीं किया जिससे मेरी पुत्री का विद्यालय में प्रवेश नहीं हो पा रहा है । आधार कार्ड बनाने के एवज में पैसों की मांग का वीडियो बनाकर मैंने सोशल मीडिया अधिकारियों को शिकायत भी की है ।

इस वसूली का वीडियो भी बनाया जिसे देखकर मैने उक्त शिकायत अपने खाते पर पोस्ट कर दिया तथा विभिन्न उच्च के आधार खबर प्रकाशित की । लेकिन आज दिन मेरे मोबाइल नम्बर को मेरे मोबाईल पर फोन आने शुरू हो गए हैं कि आपके नाम के पर्चे आधार कार्ड सेंटर पर चिपके हुए हैं जिसमें आधार कार्ड सेंटर पर सभी कार्य मेरे द्वारा किए जाएंगे एवं अन्य प्रकार के आरोप लगाए हैं जिसमें मुझे व अन्य मीडियाकर्मी शिवम पाण्डेय से जिन्होंने इस आशय के समाचार प्रकाशित किए एवं चैनल पर खबर चलाई उन लोगों को सेंटर बन्द होने का जिम्मेदार बताते हुए निराधार झूटे आरोप लगाए गए पर्चे सेंटर के बाहर व आसपास चिपकाए गए हैं । उक्त कृत्य मेरी सामाजिक प्रतिष्ठा को खराब करने एवं मानसिक रूप से प्रताडित की साजिश के तहत किया जा रहा है ।

आधार कार्ड पर वसूली होने से गरीब लोग रह जाते हैं वंचित
खनियाधाना में बन रहे आधार कार्ड कई चक्कर लगाने के बाद भी एक संशोधन पर 150 से 200 ओर 500 सौ रुपये लिए जा रहे हैं। जो आवेदक रुपये नहीं देता, उसको संशोधन के लिए मना कर दिया जाता है। कई बार लोग लिखित में इसकी शिकायत कर चुके हैं, लेकि न कार्रवाई नहीं हो रही है।

लोगों के आधार कार्ड निशुल्क बनाने के बजाय 250,300 रुपए लेकर आधार कार्ड बनाने व नाम, पता आदि संशोधित कराने की निर्धारित रकम से पांच गुने अधिक रुपए लेकर वसूली की जा रही है। जिलेभर में ग्रामीण क्षेत्रों में आधार कार्ड बनाने वाले प्राइवेट सेंटर में जमकर लूट मची हुई है। वहीं आधार संबंधी काम के लिए आने वाले लोगों से अभद्रता भी की जा रही है। दूसरी ओर अधिकारी कह रहे हैं कि शिकायत मिलने पर कार्रवाई करेंगे।

इनका कहना है
मैं अपने आधार कार्ड पर अपना मोबाइल नंबर अपडेट कराने आया था जनपद पंचायत में बन रहे आधार कार्ड सेंटर पर बैठे लोगों ने मुझसे 300 मांगे है
मोहमद आमिर खान

मैं अपने गांव की गरीब आदिवासी लोगों के साथ आधार कार्ड बनवाने आया था उनके आधार कार्ड सेंटर पर मेरे साथ पैसों की डिमांड की गई आदिवासी वर्ग के लोग अत्यंत गरीब है मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते हैं आधार कार्ड बनने से वंचित रह गए जिससे उनकी पेंशन भी रुकी हुई है
हरेंद्र सिकरवार,निवासी भोड़न