शिक्षा के माध्यम से बच्चों का चहुंमुखी विकास हो ऐसी हमारी कोशिश है: अशोक ठाकुर | Shivpuri News

शिवपुरी। हमारा लगातार प्रयास है कि जो बच्चे आपने हमें दिए हैं उन्हें इस तरह से होनहार बनाया जाए कि चाहे वह इंजीनियर, कलेक्टर या फिर एसपी बने या न बने, पर देश का एक जिम्मेदार नागरिक जरूर बन सके। क्योंकि मेरा मानना है यदि बच्चा देश का एक जिम्मेदार नागरिक बन गया तो जितनी भी पोस्ट हैं सब उसके पीछे-पीछे आएंगी।

हमारी कोशिश है कि एज्युकेशन के माध्यम से ऐसे दूसरे काम बच्चों को सिखाए जाएं जिससे उनका चहुंमुखी विकास हो सके, उक्त विचार मुख्य अतिथि की आसंदी से एसपीएस गु्रप के संचालक अशोक ठाकुर द्वारा शिवपुरी पब्लिक स्कूल में आयोजित साइंस फेयर कार्यक्रम के दौरान व्यक्त किए। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में श्रीमती किरण ठाकुर भी उपस्थित रहीं, वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता स्कूल प्राचार्य कीर्ति गाला द्वारा की गई।

कार्यक्रम का प्रारंभ मुख्य अतिथिगण सहित स्कूल की हेड छात्रा हर्षिता मिश्रा द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्वलित एवं माल्यार्पण कर किया गया। इसके बाद मुख्य अतिथिगण अशोक ठाकुर एवं श्रीमती किरण ठाकुर का स्कूल प्राचार्य कीर्ति गाला, एसपीएस के सुनील तिवारी एवं स्कूल हेड गर्ल हर्षिता मिश्रा द्वारा माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। तत्पश्चात छात्रों द्वारा सरस्वती वंदना पर शानदार प्रस्तुति दी गई।

इसके बाद अंग्रेजी में प्रार्थना का गायन किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्राचार्य कीर्ति गाला ने कहा कि इस तरह के आयोजन छात्र-छात्राओं के विकास के लिए अत्यंत आवश्यक हैं। कार्यक्रम के शानदार आयोजन के लिए स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं सहित स्टाफ द्वारा की गई तैयारियों के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। साथ ही उन्होंने पॉलीथिन का उपयोग न करने की सभी से अपील की।

नन्हे-मुन्ने मॉडल का रेम्प वॉक बना आकर्षण का केन्द्र

बच्चों की प्रतिभा को उभारने के लिए कार्यक्रम के दौरान मॉडलिंग का भी आयोजन किया गया। इस दौरान स्टेज पर ही बना गई रेम्प पर एलकेजी एवं यूकेजी के नन्हे-मुन्ने छात्र-छात्राओं ने मॉडल के रूप में वॉक कर अपने हुनर का जलवा बिखेरा। इन मॉडल की शानदार प्रस्तुतियों ने कार्यक्रम में उपस्थित अतिथिगण सहित अभिभावकों को दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया।

फिल्मी सहित मोटीवेशनल गानों पर पेश की शानदार प्रस्तुतियां

कार्यक्रम के दौरान ताल से ताल मिला फिल्मी गाने पर नन्ही छात्राओं द्वारा नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। इसके अलावा योगा का प्रदर्शन का जीवन में स्वस्थ बनाने का संदेश देते हुए कई मोटीवेशनल गानों पर नृत्य की शानदार प्रस्तुतियां छात्र-छात्राओं द्वारा पेश की गईं।

प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर किया प्रोत्साहित

कार्यक्रम के दौरान अपनी शानदार प्रस्तुतियों से सभी का दिल जीतने वाले छात्र-छात्राओं को उत्साहवर्धन करने के लिए मुख्य अतिथि अशोक ठाकुर, श्रीमती किरण ठाकुर सहित प्राचार्य कीर्ति गाला द्वारा पुरस्कारों का वितरण किया गया। कार्यक्रम के अंत में छात्र-छात्राओं द्वारा बनाए गए मॉडल का प्रदर्शन किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में अभिभावकगण भी उपस्थित रहे।

साइंस एग्जिबिशन के माध्यम से वेस्ट मटेरियल का उपयोग करना सीखेंगे छात्र

एसपीएस के संचालक श्री ठाकुर ने कहा कि साइंस एग्जिबिशन के माध्यम से जो हमारा वेस्ट मटेरियल  है जिसे हम अनुपयोगी समझकर घर से बाहर फेंक देते हैं। यदि आज के समय में देखा जाए तो जो पॉलीथिन है उससे सबसे ज्यादा समस्या गाय को आ रही है।

पॉलीथिन एक ऐसा पदार्थ है यदि उसे 100 साल के लिए भी जमीन में गाढ़ दोगे और फिर उसे वापस निकालोगे तो जैसा का जैसा ही मिलेगा। ऐसे खतरनाक पदार्थ को गाय अपनी भूख को शांत करने के लिए खा लेती है और वह उसके लिए जानलेवा बन जाता है। इससे बचने के लिए हम बच्चों को एक ब्रिक्स बनाना सिखाएंगे जिससे आपके पास कितना भी वेस्ट मटेरियल होगा उसका उपयोग कर सकते हैं। इन ब्रिक्स के माध्यम से आप अपने घर में टॉयलेट बना सकते हैं छोटी-छोटी बिल्डिंग खड़ी कर सकते हैं।