कोरोना की तीसरी लहर बच्चों और युवाओं के लिए खतरनाक, संभलकर रहें - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना की तीसरी लहर के लिए अभी से प्रशासन और मंऋियों ने शुरूआत कर दी है। इतना ही नहीं डब्लयूएचओ की मानें तो तीसरी लहर 6 से 12 साल तक के बच्चों और युवाओं के लिए घातक सिद्ध होगी इसलिए तीसरी लहर में लोगों को और अधिक संभलकर रहने की आवश्यकता है।

बच्चों को न निकाले घर से बाहर

कोरोना की तीसरी लहर काफी खतरनाक होगी और यह बच्चों को भी नहीं छोडेगी इसलिए चेतावनी दी गई है कि बच्चों को घर पर ही रखा जाए और घर में भी बच्चे मास्क का इस्तेमाल करें और हाथों को सेनेटाइज करने के साथ साथ बार बार साबुन और पानी से धोएं।

दालें, दूध और अंडे का करें सेवन

डॉक्टरों की मानें तो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए बच्चों को दाल, दूध और अंडा हर रोज खिलाएं जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ सके। इतना ही नहीं बच्चों को फल और जूस का भी सेवन कराएं।

युवाओं के लिए भी घातक

17 साल से ऊपर के युवाओं के लिए कोरोना की तीसरी लहर घातक सिद्ध हो सकती है। इसलिए युवाओं को भी संभलकर रहने की आवश्यकता है। बाहर निकलते समय दो मास्क का उपयोग करें लोगों से सुरक्षित दूरी का पालन करें। इतना ही नहीं हाथों को सेनेटाइज करें। जिससे कोरोना से बचा जा सके।

मानसिक तनाव और निगेटिविटी से रहें दूर

डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना में युवाओं और बच्चों को तनाव से दूर रखा जाए इतना ही नहीं नेगेटिविटी से भी उन्हें दूर रखा जाए और घर में जहां तक हो सके खुशनुमा माहौल बनाया जाए।