प्रवासी मज़दूरों की स्थिति दयनीय: सरपंच सचिव मशीनों से करा रहे है मनरेगा के काम / kolaras News

कोलारस। प्रदेश की भाजपा सरकार के मुखिया जहां ग्राम पंचायतों में निवासरत प्रवासी मजदूरों को मनरेगा के तहत काम देने की बात कह रहे हैं वही कोलारस जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली दर्जनों ग्राम पंचायतें मकरारा, राजगढ, खैरोना मैं मजदूरों मजदूरों की जगह मशीनों से काम कराया जा रहा है। ग्राम पंचायतों में चल रहे निर्माण कार्य बड़े पैमाने पर सरपंच सचिव और रोजगार सहायकों ने भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा दिए हैं।

प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने की जगह फर्जी मस्टररोल भरकर मशीनों से काम कराने में लगे हुए हैं। स्थानीय ग्रामीणों की शिकायतों के बावजूद भी जिला पंचायत से लेकर जनपद पंचायत में बैठे जिम्मेदार आला अधिकारी पूरी तरह से मौन धारण किए हुए हैं। इसके चलते सरपंच सचिव और रोजगार सहायकों के हौसले बुलंदियों को छू रहे हैं।

फर्जी मजदूरों के नाम दर्ज कर निर्माण कार्यों का पैसा निकाल रहे हैं। मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों की जांच कराई जाए तो बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा निकल कर सबके सामने आ सकता है। परंतु जांच कौन करें उपयंत्रीओं से लेकर पंचायत इंस्पेक्टर यहां तक कि आला अधिकारी सभी मिले हुए हैं।

सभी का अपना-अपना कमीशन फिक्स है जिसके चलते कोई भी निरीक्षण जांच नहीं करता यदि ग्रामीण लोग शिकायतें करते हैं तो नोटिस देकर आला अधिकारी अपने कर्तव्यों का पालन कर लेते हैं। जिसके चलते कोलारस जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतों में जमकर फर्जीवाड़ा चल रहा है

फर्जी फर्मो के वेंडर बनवा कर निर्माण कार्यों की निकाली जा रही हैं राशि

कोलारस जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतें अंधेर नगरी चौपट राजा की तर्ज पर चल रही हैं। फर्जी फर्मों के नाम से बिल बनाकर राशि निकाली जा रही है, जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत झाडेल, बेरसिया टीला, धुआ, बसाई, मोहरा, लुकवासा, साखनोर, खेरोना, डेहरबारा, खोकर मैं ऐसे ऐसे निर्माण कार्य कराए गए हैं।

जो धरातल पर दिख ही नहीं रहे हैं और फर्जी तरीके से फर्जीफर्मो के बिल लगाकर राशि का आहरण कर लिया गया। यदि यहां पर हुए निर्माण कार्यों की बारीकी से जांच कराई जाए तो बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा निकलकर सामने आ सकता हैं। जिम्मेदार आला अधिकारी कोई कार्यवाही नहीं कर रहे जिसके चलते जमकर फर्जीवाड़ा चल रहा है

मर्यादा अभियान से लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना बनी कमाऊ पूत

कोलारस जनपद अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत खरई, लुकवासा, डेहरबारा, सेसई सड़क, बसाई, खौकर, झाडेल, बेरसिया, साखनोर मैं मर्यादा अभियान से लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना में बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा किया गया है। यहां पर अधिकांश ऐसे हितग्राहियों को कुटीर  प्रदान की गई हैं। जो ग्राम पंचायतों में मौजूद ही नहीं है।

वह कुटीर पैसा लेकर किसी और के नाम बना दी गई है अधिकांश ऐसे लोगों को भी प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से नवाजा गया है। जो कहीं से कहीं तक इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं था और उस पर पहले से ही आलीशान मकान, वाहन, जमीन मौजूद है।

ग्राम पंचायत डोडियाई, लुकवासा बेरसिया, झाडेल, टीला, सरजापुर, किलावनी, अनतपुर, पचावला,  मोहराई, खोकर झाडेल, भडोता, साखनोर, पाडोरा, सेसई सड़क, पचावली खेरोना, लेवा दीगोदी  मैं आवास योजना से लेकर मर्यादा अभियान के तहत बनाए गए शौचालय में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार फर्जीवाड़ा हुआ है।

आवास योजना की कुटीर संपन्न लोगों को बनवा दी हैं यदि इन ग्राम पंचायतों में आवास योजना मर्यादा अभियान  की यदि  बारीकी से जांच कराई जाए तो बहुत बड़ा घोटाला उजागर हो सकता हैं।